इस्‍लामाबाद, जेएनएन। पाकिस्‍तान की राजनीति में महिलाओं की भागीदारी बढ़ रही है। इस महीने 25 जुलाई को वहां आम चुनाव होने जा रहे हैं। बताया जा रहा है कि पाकिस्‍तान के इतिहास में पहली बार इतनी संख्‍या में महिला उम्‍मीदवार चुनावी मैदान में नजर आ रही हैं। देशभर में नेशनल असेंबली की 272 सामान्‍य सीटों पर 171 महिलाओं उम्‍मीदवार चुनाव लड़ रही हैं।

आम चुनाव के लिए चुनावी मैदान में उतरे उम्‍मीदवारों की सूची का विश्‍लेषण करने पर ये चौंकाने वाली बात सामने आई है। बताया जा रहा है कि 105 महिला उम्‍मीदवारों को विभिन्‍न पार्टियों ने टिकट दिए हैं। वहीं 66 महिला उम्‍मीदवार ऐसी हैं, स्‍वतंत्र उम्‍मीदवार के तौर पर चुनावी मैदान में उतरी हैं।

डॉन अखबर की खबर के मुताबिक, पाकिस्‍तान में 2013 आम चुनाव में स्‍वतंत्र महिला उम्‍मीदवारों की संख्‍या पार्टियों द्वारा महिलाओं को दिए गए टिकट से कहीं ज्‍यादा थी। तब 74 स्‍वतंत्र महिला उम्‍मीदवार मैदान में थीं और 61 महिलाओं को पार्टियों ने टिकट दिया था। इससे पहले 2008 के आम चुनावों में तो सिर्फ 72 महिला उम्‍मीदवार चुनाव मैदान में उतरी थीं। इनमें 41 महिला उम्‍मीदवारों को पार्टी से टिकट मिले थे, वहीं 31 ने स्‍वतंत्र उम्‍मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा था। इससे ये बात कही जा सकती है कि पाकिस्‍तान की राजनीति में महिलाओं की रुचि और दखल बढ़ रही है। राजनीतिक पार्टियां भी महिला उम्‍मीदवारों पर भरोसा कर रही हैं।

पाकिस्‍तान पीपुल्‍स पार्टी ने इस बार सबसे ज्‍यादा 19 महिला उम्‍मीदवारों को टिकट दिया है। इनमें 11 पंजाब से, 5 सिंध से और 3 महिला उम्‍मीदवारों का खैबर पख्‍तून से टिकट दिए गए हैं।  

By Tilak Raj