इस्‍लामाबाद (प्रेट्र)। पाकिस्‍तान के सुप्रीम कोर्ट द्वारा गठित तीन सदस्‍यीय जजों की स्पेशल कोर्ट में पूर्व सैन्‍य शासक परवेज मुशर्रफ के खिलाफ देशद्रोह मामले में सोमवार से सुनवाई शुरू हो रही है। मीडिया रिपोर्ट के अनुसार।

चिकित्सीय आधार पर देश छोड़ मार्च 2016 से दुबई में रह रहे 74 वर्षीय मुशर्रफ पर 3 नवंबर, 2007 को संविधान पलटने का मामला चल रहा है। एक्‍सप्रेस ट्रिब्‍यून के अनुसार, स्‍पेशल कोर्ट की अध्यक्षता कर रहे लाहौर हाईकोर्ट के चीफ जस्‍टिस यावर अली देशद्रोह मामले की सुनवाई करने के लिए 2 से 4 जुलाई तक इस्लामाबाद/रावलपिंडी में रहेंगे। 7 अप्रैल को पाकिस्‍तान के चीफ जस्‍टिस मिलान साकिब निसार ने तीन जजों वाले स्‍पेशल कोर्ट के गठन का प्रस्‍ताव दिया और अली को इसके प्रमुख के तौर पर नामित किया, जिन्‍हें इस साल 22 अक्‍टूबर को रिटायर होना है।

इस मामले में सुनवाई पहले ही शुरू होनी थी, लेकिन स्पेशल कोर्ट के एक सदस्य के देश से बाहर होने के कारण ऐसा नहीं हो सका। सुप्रीम कोर्ट ने नवंबर 2013 में तत्कालीन पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज (पीएमएल-एन) सरकार के आग्रह पर एक स्पेशल कोर्ट का गठन किया था। लेकिन इसके पूर्व अध्यक्ष और पेशावर हाईकोर्ट के चीफ जस्‍टिस यहिया अफरीदी के 29 मार्च को मामले की सुनवाई से खुद को अलग कर लेने के बाद इसका पुनर्गठन करना पड़ा।

हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने दो साल से संयुक्त अरब अमीरात में रह रहे मुशर्रफ को उनकी अयोग्यता को लेकर तलब किया था, लेकिन उनके नहीं लौटने पर शीर्ष अदालत ने 25 जुलाई को होने वाले आम चुनावों में उनके भाग लेने पर रोक लगा दी। देशद्रोह के मामले में दोषी पाए जाने पर सजा-ए-मौत या उम्रकैद की सजा हो सकती है।

Posted By: Monika Minal