न्यूयॉर्क, प्रेट्र। मौसमी और वैज्ञानिक खेती के संबंध में लाखों भारतीय किसानों के बीच डिजिटल जागरूकता पैदा करने में गूगल को बड़ी भूमिका निभानी चाहिए। यह बात सूचना प्रौद्योगिकी मंत्री रविशंकर प्रसाद ने दुनिया की सबसे बड़ी इंटरनेट कंपनी के भारतीय मूल के सीईओ सुंदर पिचाई से कही।
इस दौरान देश के लाखों लोगों को सशक्त बनाने के लिए 'डिजिटल विलेज' पहल सहित सभी डिजिटल समावेशी कार्यक्रमों में अधिक भागीदारी की तलाश करने की योजना पर भी चर्चा हुई। बता दें कि प्रसाद अपनी चार दिवसीय अमेरिकी यात्रा के दौरान बुधवार को गूगल के कैलिफोर्निया स्थित मुख्यालय 'माउंटेन व्यू' गए थे।

पिचाई से मुलाकात के बाद प्रसाद ने ट्वीट करके बताया, 'कैलिफोर्निया मुख्यालय में गूगल की टीम के साथ सार्थक बैठक हुई। इस दौरान डिजिटल विलेज सहित डिजिटल समावेशी कार्यक्रमों में गूगल से अधिक सहभागिता करने को कहा गया। इतना ही नहीं उनसे भारतीय किसानों के बीच मौसमी और वैज्ञानिक खेती के संबंध में अधिक जागरूकता पैदा करने को कहा गया।'

प्रसाद ने वहां पर सीईओ सुंदर पिचाई और गूगल सर्च के बेन गोम्स सहित कई भारतीय पेशेवरों के काम करने पर भी प्रसन्नता जाहिर की। प्रसाद ने गूगल परिसर में बिताए गए समय को सही मायने में जानकारीपरक और महत्वपूर्ण बताया। उन्होंने अपनी यात्रा के दौरान कई प्रौद्योगिकी और व्यापारिक कंपनियों के सीईओ और वरिष्ठ अधिकारियों से मुलाकात की। भारतीय बाजार में निवेश के संदर्भ में उन्होंने वेंचर कैपिटलिस्ट से भी मुलाकात की।

 

Posted By: Arun Kumar Singh