कुवैत सिटी, पीटीआइ। विदेश मंत्री एस जयशंकर ने गुरुवार को कुवैत के प्रधानमंत्री शेख सबाह खालिद अल-हमद अल-सबाह से मुलाकात की और द्विपक्षीय संबंधों को नई ऊंचाई पर ले जाने के उनके संकल्प की सराहना की। जयशंकर गुरुवार को ही अपनी द्विपक्षीय यात्रा पर कुवैत पहुंचे। तेल संपन्न देश की अपनी पहली द्विपक्षीय यात्रा पर पहुंचे जयशंकर कुवैत के सुल्तान शेख नवाफ अल अहमद अल सबाह के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का एक पत्र भी ले गए हैं।

जयशंकर की यह यात्रा कुवैत के विदेश मंत्री शेख अहमद नासेर अल-मुहम्मद अल-सबाह के निमंत्रण पर हो रही है। विदेश मंत्री के तौर पर जयशंकर की यह पहली कुवैत यात्रा है। भारतीय दूतावास ने एक ट्वीट में कहा, विदेश मंत्री एस जयशंकर द्विपक्षीय यात्रा पर कुवैत आए हैं। भारतीय राजदूत ने कुवैत आने पर उनका स्वागत किया।

विदेश मंत्री की यह यात्रा ऊर्जा, व्यापार, निवेश, श्रमशक्ति और सूचना प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में संयुक्त मंत्री स्तरीय आयोग बनाने का फैसला लेने के तीन महीने बाद हो रही है। कुवैत के विदेश मंत्री शेख अहमद नासेर अल-मुहम्मद अल-सबाह ने मार्च में भारत की यात्रा की थी। इस दौरान दोनों पक्षों ने संयुक्त आयोग बनाने का फैसला किया था।

वहीं भारतीय विदेश मंत्री जयशंकर ने ट्वीट कर कहा- मैंने प्रधानमंत्री शेख सबाह खालिद अल हमाद अल सबाह से मुलाकात की। आपसी भागीदारी और राजनयिक संबंधों की 60वीं वर्षगांठ पर बधाई। कोरोना के खिलाफ हमारी संयुक्त लड़ाई से दोनों देशों के बीच के एतिहासिक संबंधों को नई मजबूती मिली है।

उल्‍लेखनीय है कि दोनों देशों ने करीब तीन महीने पहले ऊर्जा, व्यापार, निवेश, श्रम और सूचना प्रौद्योगिकी जैसे क्षेत्रों में संबंधों को मजबूती प्रदान करने के लिए एक मंत्री स्तरीय संयुक्त आयोग स्थापित करने का फैसला किया था। हाल ही में भारत के विदेश मंत्रालय ने कहा था कि यात्रा के दौरान विदेश मंत्री एस जयशंकर उच्चस्तरीय बैठकें करेंगे और कुवैत में भारतीय समुदाय को भी संबोधित करेंगे। 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप