कोलकाता। पिछले चार सत्र में कोई कमाल नहीं कर सकीं कोलकाता नाइट राइडर्स और दिल्ली डेयरडेविल्स आइपीएल के अपने पहले मुकाबले में आमने-सामने होंगी तो उनका इरादा तकदीर का पासा पलटने का होगा। दोनों के पास बेहतरीन टीम हैं, लेकिन उनके सामने सबसे बड़ी चुनौती लगातार अच्छा प्रदर्शन करने की होगी। केकेआर के शीर्ष क्रम में है दम भारतीय टीम की उपकप्तानी से वंचित हुए कोलकाता के कप्तान गौतम गंभीर के सामने बतौर कप्तान खुद को साबित करने की चुनौती है। अभिनेता शाहरुख खान की टीम ने पूर्व खिलाड़ी और न्यूजीलैंड के आक्रामक सलामी बल्लेबाज ब्रेंडन मैकुलम को ऊंचीं कीमतों पर खरीदा है। चार साल पहले आइपीएल के पहले ही मैच में 73 गेंद में 158 रन बनाने वाले मैकुलम की वापसी से स्थानीय दर्शक जरूर प्रसन्न होंगे। शीर्षक्रम में मैकुलम दक्षिण अफ्रीका के जैक्स कैलिस के साथ उतरेंगे और गौतम गंभीर तीसरे नंबर पर उतर सकते हैं। पठान-डोइशे देंगे मध्यक्रम को मजबूती मध्यक्रम में मनोज तिवारी खेलेंगे, जिन्हें ऑस्ट्रेलिया में त्रिकोणीय सीरीज और उसके बाद बांग्लादेश में एशिया कप में एक भी मैच खेलने का मौका नहीं मिला। युसूफ पठान के तौर पर केकेआर के पास दुनिया का सबसे खतरनाक बिग हिटर बल्लेबाज है। टीम दुआ कर रही होगी कि पिछले साल फॉर्म में नहीं रहे युसूफ का बल्ला इस बार रनों की बौछार करे। पठान के अलावा केकेआर के पास लक्ष्मीरतन शुक्ला, रजत भाटिया, नीदरलैंड्स के रियान टेन डोइशे और साकिब जैसे बल्लेबाज भी हैं। टीम में बांग्लादेश के साकिब अल हसन भी हैं, जिनका शुमार दुनिया के सर्वश्रेष्ठ ऑलराउंडर्स में होता है। ब्रेट ली संभालेंगे गेंदबाजी की कमान गेंदबाजी की कमान ऑस्ट्रेलियाई पेसर ब्रेट ली संभालेंगे। इसके अलावा वेस्टइंडीज के ऑफ स्पिनर सुनील नरेन भी पूरे सत्र में खेलेंगे। पिछले साल चैंपियंस लीग में त्रिनिदाद और टोबैगो के लिए खेलने वाले नरेन ने 10 विकेट लिए थे। उनका सामना करने में कई नामी बल्लेबाजों के पसीने छूट गए थे। नए कोच ट्रेवर बेलिस का साथ गंभीर और पूर्व कोच डेव वाटमोर के साथ केकेआर ने पिछले सत्र में अपेक्षाकृत बेहतर प्रदर्शन किया, लेकिन फाइनल में नहीं पहुंच सकी। वाटमोर के बाद कोच बने ट्रेवर बेलिस टी-20 क्रिकेट के विशेषज्ञ माने जाते हैं और उम्मीद है कि केकेआर को वह जीत का गुरुमंत्र देने में कामयाब होंगे।

केकेआर के गेंदबाजी सलाहकार वसीम अकरम ने कहा, ट्रेवर बेलिस को टी-20 क्रिकेट की अपार समझ है। टीम उनके साथ संतुलित लग रही है। टीम में गजब का तालमेल है। दिल्ली को खलेगी विदेशी खिलाडि़यों की कमी

डेयर डेविल्स पिछले साल सिर्फ चार मैच जीत सके थे। उन्हें शुरुआती मैच में महेला जयव‌र्द्धने, केविन पीटरसन और डेविड वार्नर की कमी खलेगी, जो अपने देश के लिए खेल रहे हैं। न्यूजीलैंड के रॉस टेलर भी नहीं खेल सकेंगे, जिन्हें दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ तीसरे टेस्ट के दौरान हाथ में चोट लगी।

प्रमुख खिलाडि़यों की गैर मौजूदगी में कप्तान वीरेंद्र सहवाग, नमन ओझा और वेणुगोपाल राव पर बल्लेबाजी में अतिरिक्त जिम्मेदारी होगी। नए खिलाड़ी आंद्रे रसेल पर भी सभी की नजरें होंगी। तेज गेंदबाजी में दिल्ली के पास मोर्केल, इरफान पठान, उमेश यादव और वरुण आरोन हैं। स्पिन का जिम्मा शाहबाज नदीम और रोल्फ वान डेर मर्वे संभालेंगे। डेयरडेविल्स को हल्के में नहीं लेंगे: बेलिस

कोलकाता। दिल्ली डेयरडेविल्स भले ही अपने कुछ चोटी के खिलाडि़यों के बिना खेल रही हो, लेकिन कोलकाता नाइटराइडर्स के कोच कोच ट्रेवर बेलिस ने साफ किया है कि उनकी टीम गुरुवार को होने वाले मैच में मेहमान टीम को हल्के में लेने के मूड में नहीं है। दिल्ली की टीम में शामिल न्यूजीलैंड के कप्तान रोस टेलर और भारतीय तेज गेंदबाज वरुण एरोन चोटिल हैं। इसके अलावा उसे महेला जयवर्धने, केविन पीटरसन और डेविड वार्नर भी अभी टीम से नहीं जुड़ पाए हैं। केकेआर का मानना है कि वीरेंद्र सहवाग की अगुआई वाली टीम चौंकाने वाले परिणाम देने में सक्षम है। बेलिस ने कहा, उनके पास कुछ खिलाड़ी नहीं है, इसलिए हम उन्हें हल्के में नहीं लेंगे। वे चौंकाने वाले परिणाम देने में सक्षम है। वह अब भी बहुत अच्छी टीम है और और कुछ भी करने में सक्षम है। बेलिस ने कहा, अच्छी शुरुआत महत्वपूर्ण है ताकि हम बाकी टूर्नामेंट में आत्मविश्वास के साथ उतर सकें। इस प्रारूप में किसी भी दिन कोई भी टीम जीत सकती है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर