मीरपुर। एशिया कप के लीग मैच में भारत के हाथों मिली करारी हार के बाद खिताब जीतकर अपने प्रशंसकों पर मरहम लगाने वाली पाकिस्तानी टीम के कप्तान मिस्बाह-उल-हक ने फाइनल में मेजबान बांग्लादेश पर मिली जीत को अद्भुत करार दिया है।

शेर-ए-बांग्ला राष्ट्रीय स्टेडियम में कल रात खेले गए एशिया कप के खिताबी मुकाबले में पाकिस्तान ने बांग्लादेश को दो रन से पराजित कर दूसरी बार इस खिताब पर कब्जा किया। इससे पहले, पाकिस्तान ने इस खिताब को वर्ष 2000 में अपने नाम किया था। मिस्बाह ने कहा, यह अद्भुत जीत है। टीम के सभी खिलाडि़यों ने विपक्षी टीम को कड़ी टक्कर दी। युवा खिलाड़ी टीम में आ रहे हैं और वह अच्छा योगदान दे रहे हैं। सरफराज अहमद की पारी उनमें से एक थी जो हमारे लिए महत्वपूर्ण थी। पाकिस्तान को इस जीत के लिए कड़ी मेहनत करनी पड़ी। एक समय पाकिस्तान के 133 रन के कुल योग पर छह विकेट गिर चुके थे। इसके बाद विकेटकीपर सरफराज ने पहले शाहिद अफरीदी के साथ मिलकर सातवें विकेट के लिए 45, उमर गुल के साथ आठवें विकेट लिए 21 और ऐजाज चीमा के साथ 10वें विकेट के लिए नाबाद 30 रन जोड़े। सरफराज 46 रन पर नाबाद रहे।

मिस्बाह ने कहा, यह विकेट अन्य विकेटों से थोड़ी अलग थी। विकेट धीमी थी। हम सोच रहे थे कि 225-230 रन अच्छा स्कोर होगा। स्पिन गेंदबाजों ने अच्छी गेंदबाजी की। अंत में तेज गेंदबाजों ने भी बढि़या गेंदबाजी की। मिस्बाह ने बांग्लादेशी टीम की भी तारीफ की। मिस्बाह ने कहा, बांग्लादेश ने बेहतरीन खेल का प्रदर्शन किया। वास्तव में यह नई बांग्लादेशी टीम है। वास्तव में वे विजेता हैं।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर