a

तनाव के साथ नींद और बीपी की समस्या में भी फायदेमंद है भ्रामरी प्राणायाम, जानें अन्य फायदे

5 photos    |  Published Fri, 24 Jun 2022 01:10 PM (IST)
1तनाव, चिंता दूर कर मन शांत रखता है भ्रामरी प्राणायाम (Pic credit- freepik)

तनाव, चिंता दूर कर मन शांत रखता है भ्रामरी प्राणायाम (Pic credit- freepik)

भ्रामरी प्राणायाम से सेहत को कई फायदे होते हैं। इस प्राणायाम के रोजाना अभ्यास से मन शांत रहता है, चिंता, अवसाद और क्रोध की समस्या दूर होती है। उन लोगों को तो जरूर ये प्राणायाम करना चाहिए जो अक्सर तनाव में रहते हैं। माइग्रेन पेशेंट्स के लिए भी ये प्राणायाम फायदेमंद है।

2हाई बीपी मरीजों के लिए फायदेमंद (Pic credit- freepik)

हाई बीपी मरीजों के लिए फायदेमंद (Pic credit- freepik)

हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों भी अगर रोजाना भ्रामरी प्राणायाम का अभ्यास शुरू कर दें तो उनका बीपी कंट्रोल में रहने लगेगा। हाई बीपी को कंट्रोल में रखकर हार्ट अटैक और स्ट्रोक की संभावनाओं को काफी हद तक कम किया जा सकता है।

3भ्रामरी प्राणायाम करने का तरीका (Pic credit- ps_yogasana/Instagram)

भ्रामरी प्राणायाम करने का तरीका (Pic credit- ps_yogasana/Instagram)

- किसी शांत जगह पर आंखें बंद कर बैठ जाएं। - अब अपनी सबसे छोटी उंगली को आंखों पर बाकी तीन उंगलियों को माथे पर और अंगूठे से कानों को बंद कर लें। - नाक से लंबी गहरी सांस भरें और छोड़ते हुए भौंरे की तरह गुंजन करें। आप सांस छोड़ते हुए ऊँ का भी उच्चारण कर सकते हैं। - इसे 5-7 बार दोहराएं।

4भ्रामरी प्राणायाम के दौरान सावधानियां (Pic credit- freepik)

भ्रामरी प्राणायाम के दौरान सावधानियां (Pic credit- freepik)

वैसे तो इस प्राणायाम के लाभ ही लाभ है लेकिन कुछ खास स्थितियों में इसे करना अवॉयड करें नहीं तो प्रॉब्लम हो सकती है, जैसे- गर्भवती महिलाओं के अलावा, कान में इंफेक्शन या जलन होने पर, सीने में दर्द, हाई ब्लड प्रेशर या मिर्गी पेशेंट्स को भी भ्रामरी प्राणायाम नहीं करना चाहिए।

5अच्छी नींद के लिए बेहतरीन व्यायाम (Pic credit- pexels)

अच्छी नींद के लिए बेहतरीन व्यायाम (Pic credit- pexels)

इस प्राणायाम के अभ्यास से नींद अच्छी आती है और तनाव की समस्या भी दूर होती है। तो रात को अच्छी नींद के लिए इसे अपने रूटीन में शामिल करें।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.Accept