अपने पसंदीदा टॉपिक्स चुनें close

बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल

ravi ranjan   |  Publish Date:Wed, 02 Aug 2017 03:38 PM (IST)
बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल
बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल

एक कहावत है, प्यास लगने पर कुआं खोदना। राजधानी में निर्माण कार्य का हाल भी कुछ ऐसा ही है। जब पूरा शहर पानी में डूब रहा है, तो नाले का निर्माण और उसे लिंक करने का काम शुरू हुआ है। यही वजह है कि बारिश के मौसम में पटनावासी बेहाल हैं। कहीं घुटने भर पानी तो कहीं कमर भर पानी जमा हुआ है। लोग इसी के बीच किसी तरह जिंदगी गुजार रहे हैं।

बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल
बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल

सरकार का कार्यपालक आदेश है कि मानसून आगमन के बाद किसी भी तरह की खोदाई का काम लोक मार्ग पर नहीं किया जा सकता है। निर्माण स्थल पर सुरक्षा घेरा और लोक सूचना के तहत योजनाओं की पूरी जानकारी का बोर्ड लगाना अनिवार्य है। पाटलिपुत्र औद्यौगिक क्षेत्र में किस योजना के तहत बरसात में नाला निर्माण के लिए खोदाई और निर्माण हो रहा है, इसकी जानकारी का बोर्ड तक नहीं लगा है।

बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल
बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल

मानसून में निर्माण स्थल पर जन सुरक्षा मानक की अनदेखी कर रोड पर खुदाई, लोक सूचना अधिकार कानून का उल्लंघन और गिट्टी-मिट्टी का खेल तेज हो गया है। हाल यह है कि जिम्मेदार अधिकारियों से शिकायत करने पर भी कोई फर्क नहीं पड़ता। ये हाल तब है, जब 30 जून के बाद मिट्टी खोदाई और नाला निर्माण के लिए खोदाई पर पाबंदी है।

बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल
बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल

मीठापुर बस पड़ाव जाने का रास्ता बरसात में सबसे दुर्गम बन गया है। करबिगहिया से न्यू बाईपास तक फ्लाई ओवर निर्माण के लिए खुदाई से जो मलबा निकला वह सड़क और नाले में जमा हो गया है। सड़क भी जर्जर हो गई है। पानी का निकास का रास्ता अवरूद्ध होने के कारण पटना आने वाले मेहमानों और बाहर जाने वाले यात्रियों की हुलिया बिगाड़ जा रहा है। बस पड़ाव में कीचड़ और पानी सड़कर बदबू फैला रहे हैं।

बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल
बारिश हुई तो याद आया नाला तो बना ही नहीं, तस्वीरों में देखें पटना शहर का हाल

सबसे खराब हालत पोस्टलपार्क टेम्पो स्टैंड के पास है। हर साल बारिश में इलाका डूबता है, नागरिकों ने पिछले साल भी प्रदर्शन किया मगर कोई सुनवाई नहीं हुई। इस बार बरसात में जब इलाका डूबा तो सड़क खोदकर नाला जोडऩे का काम शुरू हुआ। पोस्टल पार्क चौराहे पर खोदाई के कारण रोज सुबह-शाम जाम लग रहा है। पोस्टलपार्क से कंकड़बाग जाने वाली सड़क के किनारे बॉक्स नाला भी खोल दिया गया है। नाले खोदे जाने से कई गलियों का रास्ता भंग हो गया है।

This website uses cookie or similar technologies, to enhance your browsing experience and provide personalised recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.OK