नई दिल्ली, पीटीआइ। भारत के पांच मुक्केबाजों ने पोलैंड के किलसे में चल रही पुरुष और महिला युवा विश्व चैंपियनशिप में अपने अंतिम-16 मुकाबले आसानी से जीतकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। भारतीय मुक्केबाज पूनम (57 किग्रा) ने चैंपियनशिप के सेमीफाइनल में जगह पक्की की। देश के पांच मुक्केबाजों ने अपने अंतिम-16 मुकाबले आसानी से जीतकर क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया।

शानदार खेल का प्रदर्शन करने वाली पूनम ने विदेशी सरजमी पर भी अपनी कामयाबी का झंडा बुलंद कर देश की शान बढ़ाई। अपने करियर में अब तक एक भी हार का सामना नहीं करने वाली पूनम ने रविवार को क्वार्टर फाइनल में सर्वसम्मति वाले फैसले से कजाखस्तान की नाजर्के सेरिक को शिकस्त दी। पूनम ने टूर्नामेंट में स्वर्ण पदक जीतने की उम्मीद जताते हुए इस सफलता का श्रेय अपने कोचों को दिया।

 मयंक अग्रवाल ने की आलोचकों की बोलती बंद, 200 के स्ट्राइक रेट से ठोकी तूफानी फिफ्टी

महिलाओं में गीतिका (48 किग्रा) ने अंतिम आठ में जगह पक्की की। पुरुषों के दल में एशियाई रजत पदक विजेता अंकित नरवाल (64 किग्रा), बिश्वामित्र चोंगथाम (49 किग्रा), सचिन (56 किग्रा) और विशाल गुप्ता (91 किग्रा) देश के लिए पदक पक्का करने से केवल एक-एक जीत दूर हैं।निशा गुर्जर (64 किग्रा) का अभियान हालांकि लातविया की बिट्राइस रोजेंटेल से 1-4 से हारकर समाप्त हो गया।

इससे पहले गीतिका ने कजाखस्तान की अरेलिम मरात पर 5-0 से जीत हासिल की। चोंगथाम ने मेहदी कोहस्त्रोशाही को इसी अंतर से मात दी जिसके बाद सचिन ने डेविड जिमेनेज वाल्डेज को सर्वसम्मत फैसले में पराजित किया। नरवाल ने पोलैंड के ओलिवियर जामोस्की पर 4-1 से जीत दर्ज की जबकि विशाल ने प्री क्वार्टर फाइनल में क्रोएशिया के बोर्ना लोंकारिक को हराया। भारत ने इस टूर्नामेंट के लिए 20 सदस्यीय टीम (10 पुरुष और 10 महिला मुक्केबाज) भेजी है जिसमें 52 देशों के 414 मुक्केबाज हिस्सा ले रहे हैं।

 

Edited By: Viplove Kumar