नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। टोक्यो ओलिंपिक के 14वें दिन भारतीय हाकी टीम ने कांस्य पदक जीता, तो वहीं पहलवान रवि दहिया को सिल्वर से संतोष करना पड़ा। दीपक पूनिया कांस्य पदक से चूक गए। रेसलिंग में बड़ा उलटफेर हुआ और वर्ल्ड नंबर 1 विनेश फोगाट हार गईं। महिला पहलवान अंशु मलिक भी पदक से चूक गईं। भारत के नाम अब तक कुल पांच पदक हो गए हैं। वेटलिफ्टर मीराबाई चानू और पहलवान रवि दहिया ने सिल्वर जीता है। वहीं बैडमिंटन खिलाड़ी पीवी सिंधू, भारत की पुरुष हाकी टीम और बॉक्सर लवलीन बोरगोहेन कांस्य पदक जीती हैं। 

Tokyo Olympics 2020 India Live Updates:

दीपक कांस्य पदक जीतने से चूके

दूसरे हाफ में आखिरी 30 सेकेंड तक आगे चल रहे दीपक का पदक पक्का लग रहा था लेकिन अचानक ही अमीन ने एक ऐसा दांव चला जिसमें दीपक बुरी तरह से फंस गए। एक के बाद एक तीन अंक हासिल करते हुए सन मरिनो के पहलवान ने स्कोर पलक झपकते ही 4-1 कर दिया। भारतीय कोच ने इसे चैलेंज भी किया लेकिन रेफरी ने इसे चेक करने के बाद भी अंकों में बदलाव नहीं किया। 

सन मारिनो के पहलवान अमीन के खिलाफ पहले हाफ में भारतीय पहलवान दीपक ने 2-1 की बढ़त हासिल की। 

रवि गोल्ड जीतने से चूके, भारत को मिला सिल्वर 

दूसरा हाफ में भारतीय पहलवान पर विरोधी ने जोरदार बढ़त बनाई और आखिरी मिनट में स्कोर 4-7 पर आ गया। आखिर के मिनट में रवि ने काफी जोर लगाया लेकिन जवुर ने कोई भी मौका नहीं दिया। यह मैच भले रवि ने गंवाया हो लेकिन वह बेहद शानदार खेले। भारत के लिए कुश्ती में सिल्वर मेडल जीतने वाले दूसरे पहलवान बन गए हैं। इससे पहले 66 किलो भारवर्ग में सुशील कुमार ने सिल्वर जीता था। 

रवि दहिया के 57 किलो भारवर्ग के गोल्ड मेडल का मुकाबला शुरू हो चुका है। रूस ओलिंपिक कमेटी के जवुर ने पहला अंक हासिल किया। रवि ने शानदार वापसी करते हुए पटखनी देकर स्कोर 2-2 से बराबर कर लिया। विरोधी ने पलटवार करते हुए स्कोर में दो अंक की बढ़त हासिल की और स्कोर 4-2 कर दिया। 

अब से कुछ देर बाद शाम 4.15 में भारतीय पहलवान रवि रूस ओलिंपिक कमिटी के बैनर तले उतरने वाले जवुर उगुवेय के खिलाफ मैच खेलेंगे। वहीं दीपक पुनिया भी कांस्य पदक के मुकाबले में अब से थोड़ी देर बाद खेलने उतरेंगे। क्वार्टर फाइनल में हारी महिला पहलवान विनेश फोगाट का रेपेचेज में पहुंचने का सपना टूट गया है। बेलारूस की खिलाड़ी जिससे वह हारी थी फाइनल में पहुंचने से चूक गई हैं। 

आज शाम भारत के गोल्ड मेडल की उम्मीद लेकर रवि दहिया 57 किलो भारवर्ग के फाइनल मुकाबले में उतरेंगे। इसके आलावा सेमीफाइनल में हारे दीपक पुनिया भी कांस्य पदक के मुकाबले में खेलने उतरेंगे। रेपेचेज से उनके इस मैच में खेलने का मौका मिल रहा है। क्वार्टर फाइनल में हारी विनेश के पास भी मेडल जीतने का मौका बाकी है। अगर उनको हराने वाली बेलारूस की पहलवान फाइनल में पहुंची तो वह रेपेचेज से कांस्य पदक जीत सकती हैं। 

रेसलिंग में बड़ा उलटफेर

रेसलिंग में बड़ा उलटफेर हुआ है। वर्ल्ड नंबर 1 विनेश फोगाट (53 किग्रा) क्वार्टर फाइनल मुकाबला हार गई हैं। उन्हें बेलारुस की वेनेसा कलादजिंस्काया ने 9-3 से हरा दिया है।

भारत ने जीता कांस्य पदक 

भारतीय पुरुष हॉकी टीम जर्मनी जैसी दिग्गज टीम के खिलाफ कांस्य पदक के लिए लड़ाई लड़ी। दोनों टीमों को सेमीफाइनल में हार मिली थी और इस तरह भारत और जर्मनी के पास कांस्य पदक जीतने का मौका था, क्योंकि दोनों टीमें गोल्ड और सिल्वर मेडल की रेस से बाहर चुकी थीं। इस मौके को भारतीय टीम ने भुनाया और जर्मनी को 5-4 से रोमांचक मैच में मात देकर कांस्य पदक अपने नाम किया। 

इस मुकाबले में जर्मनी की तरफ से पहले क्वार्टर में ओरुज टिमूर ने गोल किया और 1-0 की बढ़त भारत के खिलाफ बनाई, लेकिन दूसरे क्वार्टर में भारत ने बराबरी कर ली। भारत के लिए दूसरे क्वार्टर में सिमरनजीत सिंह ने गोल किया।भारत के बाद दूसरे क्वार्टर में जर्मनी ने भी एक के बाद एक दो गोल किए और टीम 3-1 से आगे निकल गई। हालांकि, भारत के हार्दिक सिंह के बाद हरमनप्रीत सिंह ने पेनाल्टी कार्नर से दो गोल किए और इस तरह हाफ टाइम में भारत ने जर्मनी की बराबरी कर ली।

दूसरे क्वार्टर के बाद मुकाबला 3-3 की बराबरी पर था। हालांकि, तीसरे क्वार्टर में भारत ने दमदार शुरुआत की। मैच के तीसरे क्वार्टर की शुरुआत में ही भारत ने एक के बाद एक दो गोल किए। भारत के लिए इस क्वार्टर में सिमरनजीत सिंह के बाद रुपिंदर पाल सिंह ने गोल किया और बढ़त को 5-3 में बदला। तीसरे क्वार्टर के बाद भारत 5-3 से आगे था। 

खेल के आखिरी 15 मिनटों में यानी चौथे क्वार्टर में जर्मनी की तरफ से एक गोल किया गया। जर्मनी की टीम के लिए विंडफेडर ने गोल किया और बढ़त को थोड़ा कम किया। यहां तक कि आखिरी के मिनट में जर्मनी की टीम को पेनाल्टी कार्नर के जरिए गोल करने का मौका मिला, लेकिन भारत ने अच्छी तरह से इसे डिफेंड किया और जर्मनी पर 5-4 से जीत हासिल करते हुए इतिहास रच दिया। 

अंशु मलिक टोक्यो ओलिंपिक से बाहर

भारत की महिला पहलवान अंशु मलिक के पास टोक्यो ओलिंपिक में पदक जीतने का मौका था। बावजूद इसके कि वे सेमीफाइनल में भी नहीं पहुंच पाई थीं, लेकिन डब्ल्यूएफएस (57 किग्रा) राउंड के रेपेचेज राउंड में उनको भिड़ते हुए आगे का सफर तय करना था और कांस्य पदक की दावेदारी ठोकनी थी, लेकिन मौजूदा ओलिंपिक रजत पदक विजेता आरओसी की वेलेरिया कोब्लोवा से वे 1-5 से हार गईं। इसी के साथ टोक्यो 2020 में उनकी यात्रा आधिकारिक रूप से समाप्त हो गई है।

विनेश क्वार्टर फाइनल में पहुंची

विनेश फोगट ने डब्ल्यूएफएस 53 किग्रा वर्ग में अपना पहला मैच स्वीपस्टेक की सोफिया मैटसन के खिलाफ जीता है और इसी के साथ वे क्वार्टर फाइनल में पहुंच गई हैं। विनेश ने सोफिया को 7-1 से लगभग एकतरफा मुकाबले में हराया। अब उनका सामना क्वार्टर फाइनल में बेलारूस की वेनेसा कलादजिंस्काया से होगा।

पदक के मुकाबले

कुश्ती :

रवि कुमार (स्वर्ण पदक का मुकाबला), शाम 4:00 बजे के बाद

दीपक पूनिया (कांस्य पदक का मुकाबला), शाम 4:00 बजे के बाद

अंशू मलिक (रेपचेज दौर), सुबह 7:30 बजे के बाद

----------------

हाकी (पुरुष) : कांस्य पदक का मैच, सुबह 7:00 बजे से, बनाम जर्मनी

---------

एथलेटिक्स :

20 किमी पैदल चाल (पुरुष वर्ग) : फाइनल, दोपहर 1:00 बजे

खिलाड़ी : केटी इरफान, राहुल रोहिल्ला, संदीप कुमार

----------

अन्य मुकाबले

कुश्ती : विनेश फोगाट, अंतिम-16, सुबह 8:00 बजे

---------------

गोल्फ : महिला व्यक्तिगत स्ट्रोक प्ले राउंड 2, सुबह 4:00 बजे से

खिलाड़ी : अदिति अशोक और दीक्षा डागर

--------------

Edited By: Vikash Gaur