दोहा, प्रेट्र। अंगद वीर सिंह बाजवा और मेराज अहमद ने 14वीं एशियाई चैंपियनशिप में पुरुषों की स्कीट स्पर्धा में पहले और दूसरे स्थान पर रहते हुए देश के लिए दो और ओलंपिक कोटे हासिल किए।

इन निशानेबाजों के पदक से टोक्यो ओलंपिक 2020 के लिए भारतीय निशानेबाजों ने अब तक रिकॉर्ड 15 कोटे हासिल कर लिए। लुसैन निशानेबाजी परिसर में दोनों खिलाड़ी 56 अंक के साथ संयुक्त रूप से शीर्ष पर थे जिसके बाद विजेता का फैसला शूटऑफ से हुआ। अंगद ने शूटऑफ में मेराज को 6-5 से पछाड़ा। ओलंपिक कोटा के मामले में यह भारत का सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन है। लंदन ओलंपिक 2012 में भारत के 11 निशानेबाजों ने हिस्सा लिया था जबकि रियो ओलंपिक 2016 में 12 भारतीय निशानेबाज उतरे थे। रविवार को ही भारत ने तीन ओलंपिक कोटे हासिल किए।

अंगद और मेराज से पहले निशानेबाज ऐश्वर्य प्रताप सिंह तोमर ने भी देश के लिए रिकॉर्ड 13वां कोटा हासिल किया था। 18 वर्षीय तोमर ने आठ पुरुषों के फाइनल में 449.1 अंक बनाकर तीसरा स्थान हासिल किया। कोरिया के किम जोंगयुन (459.9) ने स्वर्ण ओर चीन के झोंगहाओ झाओ (459.1) ने रजत पदक जीता। इस भारतीय निशानेबाज ने 120 शॉट के क्वालीफाइंग में 1168 अंक बनाकर फाइनल्स में जगह सुरक्षित की थी।

मध्य प्रदेश के खरगौन के रहने वाले तोमर ने जर्मनी के सुहल में आइएसएसएफ जूनियर विश्व कप में राइफल थ्री पोजीशन में जूनियर वर्ग में विश्व रिकॉर्ड बनाया था। टूर्नामेंट में भारतीय खिलाडि़यों के शानदार प्रदर्शन के क्रम को जारी रखते हुए मनु भाकर एवं अभिषेक वर्मा की जोड़ी ने सौरभ चौधरी एवं यशस्विनि सिंह देशवाल की जोड़ी को 10 मीटर एयर पिस्टल मिस्क्ड टीम स्पर्धा में 16-10 से हराकर स्वर्ण पदक अपने नाम किया। भारतीय निशानेबाजों ने जिस तरह का प्रदर्शन करके ओलंपिक कोटा हासिल किया है उससे इस बात की उम्मीद जरूर बढ़ी है कि शायद अगले ओलंपिक में हम निशानेबाजी में खाली हाथ नहीं रहेंगे। 

Posted By: Sanjay Savern

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप