मोनाको, पीटीआइ। Indian sprinter Nirmala Sheoran banned for 4 Years:  ट्रैक एवं फील्ड के डोपिंग मामलों को नियंत्रित करने वाली संस्था एथलेटिक्स इंटेग्रिटी यूनिट (एआइयू) ने भारतीय फर्राटा धावक निर्मला श्योराण के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है। एआइयू ने एशियन चैंपियनशिप के उनके दो स्वर्ण पदक छीनते हुए निर्मला श्योराण पर चार साल का प्रतिबंध लगा दिया है।

इस मामले में पाया गया दोषी

एआइयू ने निर्मला को जून 2018 में घरेलू प्रतियोगिता में स्टेरायड ड्रोस्तानोलोन और मेटेनोलोन के इस्तेमाल का दोषी पाया था। इसके बाद सात अक्टूबर को उन्हें प्रतिबंधित कर दिया गया। एआइयू के मुताबिक, इस भारतीय एथलीट के खून के नमूनों में गड़बड़ी पाई गई थी। उन्होंने प्रतिबंध को स्वीकार कर लिया है और मामले की सुनवाई की मांग नहीं की।

एथलेटिक्स इंटेग्रिटी यूनिट ने ट्वीट कर दी जानकारी

एआइयू ने ट्वीट कर बताया है, "एथलेटिक्स इंटेग्रिटी यूनिट भारतीय फर्राटा धावक निर्मला श्योराण को प्रतिबंधित पदार्थ के इस्तेमाल की वजह से चार साल के प्रतिबंधित करती है। एआइयू के मुताबिक उनका प्रतिबंध 28 जून 2018 से प्रभावी होगा, जबकि अगस्त 2016 से नवंबर 2018 तक के उनके सभी नतीजों को रद कर दिया गया है।" 

इन प्रतियोगिताओं में निर्मला ने जीते हैं गोल्ड मेडल

आपको बता दें, निर्मला श्योराण ने साल 2017 में भारत में हुई एशियन चैंपियनशिप में 400 मीटर और 4X400 मीटर रिले में स्वर्ण पदक हासिल किए थे। उन्होंने रियो ओलंपिक में भी इन दोनों स्पर्धाओं में भाग लिया था। निर्मला श्योराण ने 51.48 सेकेंड का अपना व्यक्तिगत सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करते हुए रियो के लिए क्वालीफाई करना था। 24 वर्षीय निर्मला हरियाणा के भिवानी जिले से संबंध रखती हैं।

Posted By: Vikash Gaur

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस