झज्जर, अमित पोपली। भारतीय निशानेबाज मनु भाकर ने शुक्रवार को ट्वीट करते हुए हरियाणा सरकार पर सवाल उठाया है। झज्जर के गोरिया गांव की इस गोल्डन गर्ल ने प्रदेश के खेल मंत्री अनिल विज से पूछा है कि पुष्टि कीजिये सर, यूथ ओलंपिक में मिले स्वर्ण के बाद घोषित इनाम सही था या सिर्फ जुमला।

शुक्रवार दोपहर में मनु के ट्वीट करने के बाद सैकड़ों लोग प्रतिक्रिया दे रहे हैं। मनु ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, केंद्रीय खेल मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर, हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल सहित अन्य को टैग करते हुए गजट नोटिफिकेशन की कॉपी आदि भी ट्विटर के जरिये साझा की है।

मनु ने नौ अक्टूबर 2018 को यूथ ओलंपिक में 10 मीटर एयर पिस्टल प्रतियोगिता में दिग्गजों को मात देते हुए स्वर्ण जीता था। 10 अक्टूबर को अनिल विज ने ट्वीट किया था, ‘हरियाणा सरकार इस स्वर्ण के लिए मनु भाकर को दो करोड़ की राशि इनाम में देगी, पिछली सरकारों में यह राशि मात्र 10 लाख हुआ करती थी। ओलंपिक की तैयारियों में जुटी मनु ने ओलंपिक पदक विजेता योगेश्वर दत्त के एक ट्वीट को भी रि-ट्वीट करते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी।

दो नोटिफिकेशन से घोषणा पर संशय: मनु भाकर के पिता राम किशन भाकर ने कहा कि सात सितंबर 2018 के गजट नोटिफिकेशन में यूथ ओलंपिक में स्वर्ण जीतने पर इनाम की राशि 10 लाख रुपये से बढ़ाकर दो करोड़ करने की घोषणा है। 27 दिसंबर 2018 को जारी हुए दूसरे गजट नोटिफिकेशन, जो कि आज ही पता चला है में इनाम की राशि 10 लाख रुपये से एक करोड़ करने की घोषणा हुई है। यह घोषणा पर संशय पैदा करता है।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

Posted By: Pradeep Sehgal

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस