नई दिल्ली, जेएनएन। भारत की स्टार बैंडमिटन खिलाड़ी और ओलंपिक पदक विजेता पीवी सिंधू ने बीडबल्यूएफ वर्ल्ड बैडमिंटन चैंपियनशिप के फाइनल में जगह बना ली है। सिंधू ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए जापान की अकाने यामागुची को मात दी।

अब सिंधू के फाइनल में पहुंचने के बाद भारत का पदक तो पक्का हो गया है। इससे पहले भी साल 2017 में सिंधू इस टूर्नामेंट के फाइनल में पहुंची थी लेकिन खिताबी भिड़ंत में उन्हें नोजोमी ओकुहारा से हार का सामना करना पड़ा था। पिछले साल भी उन्होंने सिल्वर पदक जीता था।

अब इस मुकाबले की बात करें तो सिंधू ने 55 मिनट चले इस मुकाबले में यामागुची तो 21-16. 24-22 से हराया। सिंधू की इस जीत की सबसे बड़ी खासियत ये थी कि दोनों ही गेम में उन्होंने पिछड़ने के बाद वापसी की। यामागुची ने पहले गेम से ही सिंधू पर दबाव बनाने की कोशिश की और लगातार 5 पॉइंट अपने नाम किए। लेकिन इसके बाद सिंधू ने शानदार वापसी करते हुए स्कोर 8-8 की बराबरी पर ला दिया।

इसके बाद तो सिंधू ने अपनी लय नहीं छोड़ी और स्कोर 16-12 कर ली लेकिन इसके बाद यामागुची ने वापसी की और लगातार 3 अंक अपने नाम किए। इसके बावजूद सिंधू ने संभलते हुए वापसी की और पहला गेम 21-16 से जीत लिया।

पहले ही गेम की तरह दूसरे गेम में भी यामागुची ने बढ़त बनाई, एक समय तो उनके पास 18-12 की शानदार बढ़त थी और उन्हें गेम जीतने के लिए केवल 3 अंक चाहिए थे। लेकिन इसके बाद सिंधु ने जबरदस्त खेल का मुजाराया किया। उन्होंने लगातार 6 अंक हासिल कर स्कोर 18-18 पहुंचा दिया। इसके बाद यामागुची दबाव में आ गई और उन्होंने लगातार गलती तक सिंधू को मैच जीतने का मौका दे दिया।

सिंधू ने 24-22 से गेम जीतकर फाइनल में अपनी जगह पक्की की। फाइनल में सिंधू का सामना स्पेन की कैरोलिना मारिन से होगा। कैरोलिना मारिन ने ही सायना नेहवाल को क्वार्टर फाइनल में हराकर उन्हें टूर्नामेंट से बाहर किया था।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

अन्य खेलों की खबरों के लिए यहां क्लिक करें 

 

Posted By: Lakshya Sharma