नई दिल्ली, जेएनएन। चीन में हुए 1990 एशियन गेम्स में भारत ने एक स्वर्ण पदक जीता था। यह पदक जीता था भारतीय कबड्डी टीम ने। एशियन गेम्स में पहली बार कबड्डी को शामिल किया गया था। ऐसे में भारतीय कबड्डी के लिए 1990 का एशियन गेम्स यादगार बन गया। दरअसल, इस एशियन गेम्स में कुल छह टीमों ने कबड्डी में भाग लिया था। 

भारत ने फाइनल में बांग्लादेश को 52-17 के बड़े अंतर से शिकस्त दी थी। वहीं, बांग्लादेश और पाकिस्तान के अंक समान थे। ऐसे में दूसरे स्थान के लिए उनके बीच एक प्लेऑफ मुकाबला खेला गया। इसमें बांग्लादेश ने पाकिस्तान को रोमांचक मुकाबले में 19-18 से शिकस्त देकर दूसरा स्थान प्राप्त किया था।

भारत के लिए ये गेम्स ज्यादा अच्छे नहीं रहे। 11वें संस्करण में भारत ने 1 गोल्ड, 8 सिल्वर और 13 कांस्य जीते। इस बार वह टॉप 10 में भी जगह नहीं बना पाया और 12वें स्थान पर खिसक गया। इस साल पीटी उषा भी केवल 400 मीटर की रेस में सिर्फ सिल्वर पदक ही जीत पाई। भारत इस बार एक गोल्ड के लिए तरफ गया था लेकिन पुरुष कबड्डी टीम ने पहला और आखिरी गोल्ड जीतकर भारत की लाज बचाई। 

इस बार भी चीन ने 83 स्वर्ण सहित कुल 341 पदक जीतकर पहला स्थान हासिल किया। एशियन गेम्स के इतिहास में ये पहला मौका था, जब किसी देश ने 300 से ज्यादा मेडल जीते हों। कोरिया इस बार चीन से काफी पिछड़ गया और 54 गोल्ड के साथ 181 पदक जीतकर दूसरे स्थान पर रहा।

क्रिकेट की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

खेल की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

 

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021