संवाद सूत्र, सुंदरगढ़:

कांसबाहाल स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट फॉर प्रोडक्शन मैनेजमेंट, (आइआइपीएम) के निदेशक की गिरफ्तारी की मांग पर अड़े यहां के विद्यार्थियों ने अपना आंदोलन तीसरे दिन भी जारी रहा। इसी बीच आंदोलनकारी विद्यार्थियों ने जिलापाल से भी मुलाकात की। लेकिन इसका भी ठोस नतीजा न निकला। गुरुवार को गणेश पूजा होने से विद्यार्थियों ने आंदोलन स्थल पर ही भगवान लंबोदर की पूजा की। गणेश पूजा व नुंआखाई दोनों के अवकाश के बाद शनिवार को संस्थान पुन: खुलने से आंदोलन तेज होने के आसार हैं।

गुरुवार को आंदोलनकारी विद्यार्थियों से सुंदरगढ़ जिलापाल सुरेंद्र कुमार मीणा के मिलने का कार्यक्रम था। लेकिन तबीयत खराब होने की वजह से वे कुतरा से ही वापस लौट गए। जिसके बाद आंदोलनकारी विद्यार्थियों के प्रतिनिधि दल ने शाम के समय सुंदरगढ़ में जिलापाल आवास पर जाकर मुलाकात की। जिसमें जिलापाल ने मामले की जांच करने का भरोसा दिया। लेकिन आंदोलनकारी विद्यार्थियों ने निदेशक की गिरफ्तारी की मांग पूरी न होने तक आंदोलन जारी रखने की चेतावनी दी है। वहीं लगातार चार दिन से आंदोलन चलने के बाद भी आइआइपीएम कॉलेज के चेयरमैन तथा विधायक मंगला किसान के अभी तक न पहुंचने से भी विद्यार्थियों तथा अभिभावकों में नाराजगी है। इसे लेकर राज्य सरकार की उदासीनता तथा प्रोमोटर लार्सन एंड टुब्रो कंपनी की चुप्पी पर भी सवालिया निशान लग गया है। भाजपा व कांग्रेस से इस आंदोलन को नैतिक समर्थन मिला है।

Posted By: Jagran