संवाद सूत्र, बामड़ा : रेल विभाग के लाखों रुपये के तांबा तार चोरी के मामले में गोबिंदपुर पुलिस ने आरपीएफ की मदद से दो आरोपितों को गिरफ्तार अंतरजिला तांबा चोर गिरोह का पर्दाफाश किया है। पुलिस ने आरोपितों के पास चोरी तांबा तार भी बरामद कर लिया है। गोबिदपुर थाना प्रभारी प्रताप राना, झारसुगुड़ा आरपीएफ इंस्पेक्टर एलके दास, रेलवे असिस्टेंट सिक्योरिटी कमिश्नर श्रवण कुमार चौधरी, रेलवे क्राइम इंटेलीजेंस ब्यूरो इंस्पेक्टर प्रभात कुमार ने बताया कि विगत 15 व 16 दिसंबर की रात को बामड़ा से कांसबहाल तक चल रहे थर्ड लाइन कार्य के लिए रखा तांबा तार चोरी हुआ था। ठेकेदार शिव कुमार सिंह के बामड़ा साइट में हुई इस वारदात के संबंध में ठेकेदार के कर्मचारी देवबंद खड़िया ने गोबिदपुर थाने में शिकायत दर्ज करायी थी। गोबिंदपुर पुलिस ने बामड़ा आरपीएफ के साथ घटना की जांच-पड़ताल शुरू की। ठेकेदार के कैंप में लगे सीसीटीवी कैमरे खंगालने पर घटना में 10 से 11 लोगों के शामिल होने का सुराग मिला। इसी आधार पर पुलिस और आरपीएफ इंस्पेक्टर एलके दास की टीम ने गिरोह के सरगना अभयपुर अंचल, ओरिएंट थाना, झारसुगुड़ा के मंगूराम ओराम (19) और गजपतिनागर के उज्जल कुमार भगत (19) को गिरफ्तार किया। दोनों की निशानदेही पर गोबिंदपुर थाना क्षेत्र के तालडीही गांव से जमीन के नीचे छिपाकर रखा गया चोरी का तांबा तार भी बरामद किया गया। गोबिदपुर पुलिस और आरपीएफ अलग अलग दो मामला दर्ज कर घटना की जांच जारी रखी है। पुलिस के अनुसार, इस वारदात में ओरिएंट थाना, गोबिंदपुर थाना एवं लयकेरा थाना क्षेत्र के आरोपित शामिल हैं। जिनकी तलाश की जा रही है। सिक्योरिटी कमिश्नर चौधरी ने थाना प्रभारी प्रताप राणा और आरपीएफ इंस्पेक्टर एलके दास समेत कांस्टेबल रमेश कर्ण की सराहना की की है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस