संवाद सूत्र, संबलपुर : अस्थाई आश्रय केंद्रों में पनाह लिए बाढ़ पीड़ितों के बीच मंगलवार की दोपहर से सरकारी स्तर पर खाद्य सामाग्री वितरण बंद कर दिया गया। आश्रय केंद्रों में पनाह लिए पीड़ितों की दुर्दशा को देखते हुए, स्वेच्छासेवी संगठन संकल्प की ओर से रात के समय उनके लिए सूखा खाद्य और साबुन की व्यवस्था की गई।

प्राप्त जानकारी के अनुसार महानदी तट पर बसे स्थानीय भतरा स्थित ईंटभट्टी बस्ती के करीब 20 परिवार भतरा स्कूल में बनाए गए अस्थाई आश्रय केंद्र में पनाह लिए हुए हैं। महानदी का पानी उनकी बस्ती में आने से उन्हें इन केंद्रों में पनाह लेना पड़ा था। बस्ती में अबतक हालत सामान्य नहीं हुआ है और फिर से बारिश शुरू हो जाने से उन्हें आश्रय केंद्रों में रहना पड़ रहा है। बताया गया है कि मंगलवार को प्रशासन और महानगर निगम की ओर से कई आश्रय केंद्रों में खाद्य वितरण बंद कर दिया गया है। ऐसे में। भतरा स्कूल में पनाह लिए ईंटभट्टी बस्ती के लोगों को देर रात तक भूखा रहना पड़ा। इस बारे में खबर मिलने के बाद स्वेच्छासेवी संगठन-संकल्प के अध्यक्ष डॉ. प्रभाष देवता, सचिव रंजीत रथ, सूर्य पाणिग्राही, श्रीकांत पाणिग्राही, सुजाता गुरु, अशोक मेहेर, ग्रामसाथी विमालिनी पति आदि सूखा खाद्य सामग्री और साबुन लेकर भतरा स्कूल पहुंचे और वहां पनाह लिए बाढ़ प्रभावितों के बीच बांटे।

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस