संबलपुर, जेएनएन। आज के इस वैज्ञानिक युग में भी केवल गांव देहात ही नहीं बल्कि शहरी इलाकों में लोगों के बीच अंधविश्वास कायम है। उनके मन में जादू टोना और डायन जैसी बुराई घर बनाए हुए है। इसका ताजा टिकूपाड़ा गांव में देखने को मिला। इन्हीं सब चक्कर में कुमुद खड़िया नामक महिला की कुछ लोगों ने निर्मम पिटाई कर दी। हालांकि पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपितों को गिरफ्तार कर लिया है।

अइंठापाली पुलिस के अनुसार, घटना काएंशिर निकटस्थ टिकूपाड़ा गांव की है। डायन के संदेह में रविवार की आधी रात कुछ लोगों ने 52 वर्षीय कुमुद खड़िया के घर पर हमला कर दिया और तोड़फोड़ करते हुए निर्मम पिटाई कर दी। कुमुद की चीख पुकार सुनकर उसका पुत्र जब उसे बचाने पहुंचा तब हमलावर उसे धमकी देते हुए भाग गए। सोमवार को थाने में इस संबंध में रिपोर्ट दर्ज होने के बाद पुलिस ने गांव के पांच युवकों को गिरफ्तार कर लिया। बताया गया है कि आरोपितों को संदेह था कि उक्त महिला डायन है और जादू टोना करती है। इसी को लेकर कई दिनों से उस पर नजर रखी जा रही थी और मौका मिलने पर रविवार की रात उस पर हमला किया गया।

गिरफ्तार आरोपी - नेपाल गनसरिया - सुरेश गनसरिया - मागशीर गनसरिया - अनिल खडिया - जयराम खडिया