संसू, संबलपुर : गुजरात के अहमदाबाद स्थित इंडियन स्पेस रिसर्च आर्गनाइजेशन (इसरो) के स्पेस एप्लीकेसंस सेंटर में ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण और शोध कर वापस संबलपुर लौटे वीर सुरेंद्र साय प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय, बुर्ला के 11 विद्यार्थियों का अभिनंदन किया गया। विगत 15 मई से दो महीने तक चलनेवाले इस ग्रीष्मकालीन प्रशिक्षण और शोध में प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के आइडिया इनोवेशन सेल वीएसएलवी के रौनक अग्रवाल, अपूर्ण मासुक, सहस्रातांशु पुरोहित, रंजन पंडा, यशस्वी साहू, प्रणय पंडा, सुमीत साहू, शोभन पंडा, कुणाल मित्तल और सुदर्शन सामल शामिल रहे। विद्योर्थियों की यह टीम प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय में वीएसएलवी परियोजना में सफलता हासिल कर सुर्खियों में आयी थी। इस परियोजना को राष्ट्रीय व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर प्रशंसा और स्वीकृति प्राप्त हुई थी। इसी के बाद इसरो, अहमदाबाद की ओर से इस टीम को इटर्नशिप के लिए मौका प्रदान किया गया। इस प्रशिक्षण और शोध के दौरान टीम ने महाकाश विज्ञान के विभिन्न परियोजनाओं, जैसे रोवर टेक्नोलॉजी, एडवांस्ड ऑब्जर्वेशनल टेलीस्कोप, सीआइएस रिमोट से¨सग, रडार, टेक्नोलॉजी, लिथोग्राफी टेक्नोलॉजी, स्पेस ग्रेड कंपोजाइट मैटेरियल आदि के बारे में जाना। इस टीम की लगन और काम के प्रति परिश्रम को देख इसरो के निदेशक तपन मिश्र ने प्रशंसा करने समेत उज्जवल भविष्य की कामना की। इसी तरह प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. अटल चौधरी, डीन डॉ. देवदत्त मिश्र समेत प्रशिक्षण व रोजगार सेल के प्रमुख प्रो. प्रशांत नंद ने भी इस टीम को प्रोत्साहित किया। टीम ने इसरो अहमदाबाद के मानव संसाधन विभाग के प्रमुख जे. रविशंकर को वीएसएलवी टीम को मौका देने के लिए धन्यवाद ज्ञापित किया है।

By Jagran