संसू, संबलपुर : पिछले 167 दिनों तक बंद रहे संबलपुर के सरकारी दफ्तरों का ताला मंगलवार को खुला और कामकाज शुरू हुआ। इतना ही नही यहां पदस्थ नए जिलाधीश शुभम सक्सेना भी पहली बार अपने सरकारी कार्यालय पहुंच कार्यभार संभाला। इधर, महीनों बाद सरकारी दफ्तरों के खुलने से लोगों को थोड़ी राहत मिली है। पूरी राहत समस्त कोर्ट कचहरी खुलने के बाद ही मुमकिन होगी।

उल्लेखनीय है कि पश्चिम ओडिशा में हाईकोर्ट की स्थायी खंडपीठ स्थापित किए जाने की मांग को लेकर संबलपुर जिला वकील संघ बीते साल पांच सितंबर से कामबंद आंदोलन और 19 नवंबर से क्रमिक अनशन चला रहा है। लोगों को इस आंदोलन की वजह से हो रही मुश्किलों से राहत देने की खातिर वकील संघ ने सरकारी दफ्तरों को खोलने दिया। लेकिन अपना आंदोलन और अनशन जारी रखने का निर्णय लिया है।

मंगलवार को कामबंद आंदोलन 168 और क्रमिक अनशन 93 दिनों पर पहुंच चुका है। बताया गया है कि सरकारी दफ्तरों के खुलने और अदालतों के बंद रहने से कई सरकारी कामकाज प्रभावित रहेगा। जमीन की खरीद फरोख्त, राजस्व मामले, थाना- पुलिस के मामलों में लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप