जागरण संवाददाता, राउरकेला : असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों के लिए भारत सरकार के श्रम मंत्रालय की ओर से परिचय पत्र ई-श्रम कार्ड का प्रचलन शुरू किया गया है। असंगठित श्रमिकों को अब व्यक्तिगत नंबर प्रदान करने के साथ ही सरकार की ओर से पंजीकृत श्रमिकों को दो लाख रुपये का दुर्घटना बीमा प्रदान करने की व्यवस्था है। जन शक्ति सेवा केंद्र एवं नारी कल्याण मंच के प्रयास से आयोजित कार्यक्रम में श्रमिकों के बीच कार्ड का वितरण किया गया। इसमें बतौर अतिथि श्रमिक नेता वैद्यनाथ दास, हिमांशु बल, संजीव महंती, हेमंत बेहरा, सत्यानंद बेहरा आदि लोग मौजूद थे। उन्होंने असंगठित क्षेत्र में काम करने वाले श्रमिकों को मिलने वाली सुविधाओं पर प्रकाश डालने के साथ ही ई- श्रम कार्ड की सहायता से सहायता प्राप्त करना आसान होने की बात कही। संगठित क्षेत्र में काम संकुचित होने के कारण असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों की संख्या में तेजी से बढ़ोत्तरी हो रही है जिन्हें सामाजिक सुरक्षा के साथ अन्य सुविधा देने के लिए सरकार की ओर से योजनायें बनाई गई हैं। सभी श्रमिकों का पंजीकरण कर उन्हें सुविधा प्रदान करना सरकार का लक्ष्य होने की बात उन्होंने कही। इस मौके पर बेहतर कार्य करने पर सुंदरगढ़ ऑटो एसोसिएशन के नेता भुवन बेहरा को सम्मानित किया गया। इसमें सामाजिक कार्यकर्ता लिपि घोष, लीजा महाराणा, बासुदेव बनर्जी, प्रियंका साहू समेत अन्य लोगों ने सहयोग किया। पिपिली उपचुनाव को लेकर बीएसएफ जवानों ने किया फ्लैग मार्च : ओडिशा के पुरी जिले में आने वाली पिपिली विधानसभा सीट पर आगामी 30 सितंबर को उप चुनाव होने जा रहा है। अपने-अपने उम्मीदवार को जिताने के लिए सभी राजनीतिक दलों ने सोमवार से चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। ऐसे में उप चुनाव को निष्पक्ष एवं शांतिपूर्ण ढंग से संपन्न कराने के उद्देश्य से पिपिली विधानसभा क्षेत्र में सोमवार को बीएसएफ के जवानों ने फ्लैगमार्च किया। पिपिली में राजनीतिक हिसा को ध्यान में रखते हुए बीएसएफ जवानों ने एनएसी क्षेत्र में फ्लैग मार्च किया। वहीं, पिपिली उप चुनाव को महज 10 दिन का समय बचा है। ऐसे में सोमवार से राजनीतिक दलों ने अपना चुनाव प्रचार शुरू कर दिया है। चुनाव में किसी भी प्रकार की राजनीतिक हिसा ना होने पाए इसके लिए पुरी जिला प्रशासन पहले से ही कमर कस चुकी है। इसके लिए छह प्लाटून केंद्रीय फोर्स एवं 5 सीनियर अधिकारियों को यहां तैनात किया गया है। आचरण विधि उल्लंघन ना होने पाए, इसपर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। पिपिली के सभी संवेदनशील जगहों पर पुलिस पैनी नजर बनाए हुए है।

Edited By: Jagran