जागरण संवाददाता, राउरकेला: महानगर निगम के अंतर्गत बंधपोष में सांप के काटने से पीड़ित एक राजमिस्त्री की राउरकेला सरकारी अस्पताल में भर्ती कराने के बाद हालत नाजुक होने के बाद इलाज के लिए इस्पात जनरल अस्पताल रेफर कर दिया गया। रास्ते में ही उनकी मौत हो गई। पूर्व पाषर्द रमेश मुंडारी समेत भाजपा के प्रदेश सचिव धीरेन सेनापति ने सरकारी अस्पताल में सर्पदंश का भी इलाज संभव न होने से यहां के स्वास्थ्य सेवा पर सवाल उठाने समेत अस्पताल प्रबंधन पर निशाना साधा है।

बंधपोष का जलेश्वर कच्छप राजमिस्त्री का काम करता था। दस सितंबर को सांप ने काट लिया था। रमेश मुंडारी उसे इलाज के लिये राउरकेला सरकारी अस्पताल ले गये थे। लेकिन वहां पर इलाज शुरू होने के बाद उसकी हालत में सुधार नहीं आया। जिससे अगले दिन वहां के डॉक्टरों ने उसे इलाज के लिए इस्पात जनरल अस्पताल ले जाने की सलाह दी। पूर्व पाषर्द रमेश मुंडारी उसके इलाज के लिए इस्पात जनरल अस्पताल से बातचीत की थी। जिसके बाद वे भाजपा के प्रदेश सचिव धीरेन सेनापति के साथ बाइक पर जलेश्वर को लेकर इलाज के लिए ले जा रहे थे तभी रास्ते में ही उसकी मौत हो गई। जिससे पूर्व पाषर्द रमेश मुंडारी व भाजपा के प्रदेश सचिव धीरेन सेनापति ने राउरकेला सरकारी अस्पताल की चिकित्सा व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर दिया है। उनका कहना है कि यदि इस अस्पताल में सांप के काटने का इलाज भी नहीं हो पाता तो अन्य गंभीर बीमारियों से पीड़ित लोगों का इलाज कैसा होता होगा, इसका सहज ही अनुमान लगाया जा सकता है।

Posted By: Jagran