जागरण संवाददाता, राउरकेला : राउरकेला इस्पात संयंत्र (आरएसपी) के मुख्य कार्यपालक अधिकारी दीपक चटटराज ने गुरुवार को वेबिनार बैठक के माध्यम से ई 4-5 स्तर के अधिकारियों को संबोधित किया। कहा कि संरचित और सतत संचार के लिए मॉड्यूल का विकास एक महत्वपूर्ण क्षेत्र है। यह टीम आरएसपी के प्रेरक स्तरों को और बढ़ाने में मदद करेगा। बैठक में कार्यपालक निदेशक (व‌र्क्स) पीके दास, कार्यपालक निदेशक (सामग्री प्रबंधन) डीके महापात्र के साथ संयंत्र के विभिन्न विभागों के 250 से अधिक अधिकारी शामिल हुए।

मुख्य कार्यपालक अभियंता चट्टराज ने कहा कि चिताओं और आशंकाओं से निपटने और प्रबंधन की अपेक्षाओं को पूरा करने के लिए एक प्रेरित दिमाग और एक अदम्य साहसी दृष्टिकोण की आवश्यकता है। उन्होंने यूनियन निकायों और एग्जीक्यूटिव एसोसिएशन की रचनात्मक भूमिका की सराहना की और कोविड 19 लॉकडाउन के चुनौतीपूर्ण दौर में संयंत्र चलाने और बनाए रखने में मदद करने के अपने निरंतर प्रयास के लिए उन्हें धन्यवाद दिया। लॉकडाउन के दौरान संयंत्र को चालू अवस्था में रखने के लिए सेल, आरएसपी द्वारा उठाए गए विभिन्न पहलुओं पर प्रकाश डाला एवं समय का बेहतरीन तरीके से सदुपयोग के लिए प्रशंसा की। उन्होंने लॉकडाउन के बाद नई सामान्य स्थिति के साथ मुकाबला करने के लिए उपयुक्त रणनीतियों की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि अनुबंध श्रमिकों सहित व्यक्तिगत और संस्थागत सुरक्षा जरूरी है।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस