लहुणीपाड़ा, जेएनएन: राउरकेला वन मंडल के अंतर्गत बांकी रेंज के केबलांग सेक्शन के आमरुडी गांव में गजराज ने एक विधवा मां से उसका सहारा छीन लिया है। गजराजों के हमले में उसके बेटे की मौत हो गई, जबकि बेटी गंभीर रूप से घायल हो गई। उसे इलाज के लिए लहुणीपाड़ा अस्पताल में भर्ती कराया गया है। जहां उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है।

जानकारी के अनुसार बांकी रेंज के केबलांग सेक्शन के आमरुडी गांव में बुधवार की रात करीब नौ बजे आसपास गांव के करीब जंगल से एक दर्जन हाथी आ धमके। हाथियों के दल ने तुलसी मुंडा के घर की दीवार तोड़ दी। गांव में हाथियों के आने का पता चलते ही तुलसी मुंडा प्राण बचाने के लिए दोनों बच्चों को लेकर वहां से भागने लगी। लेकिन घर से करीब 50 मीटर की दूरी पर उसका पुत्र विष्णु मुंडा भागते समय गिर पड़ा। तभी एक हाथी वहां पहुंच गया और विष्णु को सूंड़ से उठाकर पटक दिया। इसके बाद उसका सिर कुचलते हुए आगे बढ़ गया। जिससे घटना स्थल पर ही उसकी मौत हो गई। पता चलने पर गांव वाले मिलकर मौके पर पहुंचे और हाथी को खदेड़ा। वहीं, इस बात  की सूचना मिलने के बाद वन विभाग के अधिकारी व कर्मचारी भी वहां पहुंच गए। 

 

Posted By: Babita

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस