जागरण संवाददाता, राउरकेला : देश के नामचीन तकनीकी संस्थानों में एक राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थान (एनआइटी) राउरकेला के 16वें दीक्षा समारोह में शनिवार के 1540 छात्र-छात्राओं को डिग्री प्रदान की गई। जिसमें बीटेक में 585, बीअर्क (आर्किटेक्चर) में 22, बीटेक व एमटेक दोहरी डिग्री में 135, पांच वर्षीय इंटीग्रेटेड एमएससी में 75, एमटेक में 417, एमएससी में 126, एमए में पांच, एमबीए में 38, एमटेक (रिसर्च) में 11 तथा 126 छात्र-छात्राओं को पीएचडी की डिग्री प्रदान की गई। इन छात्र-छात्राओं ने मुख्य अतिथि आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन डा. कुमार मंगलम बिड़ला, एनआइटी के बोर्ड ऑफ गर्वनर्स के चेयरपर्सन डा. संतरप्त बी मिश्रा, निदेशक प्रो. अनिमेष विश्वास तथा अन्य अतिथियों की उपस्थिति में अपनी-अपनी डिग्री का प्रमाणपत्र ग्रहण किया।

इस कार्यक्रम में एनआइटी के निदेशक प्रो. अनिमेष विश्वास ने अपने अभिभाषण में संस्थान की सफलता, उपलब्धियां तथा खूबियों के बारे में विस्तार से जानकारी प्रदान की। प्रो. विश्वास ने बताया कि इस दीक्षांत समारोह में कुल 1540 छात्र-छात्राओं को डिग्री प्रदान की गई है। जो कि गत वर्ष के दीक्षा समारोह में डिग्री हासिल करने वाले छात्र-छात्राओं से 120 ज्यादा है। उन्होंने आगे बताया कि एनआइटी ने अब तक 9998 इंजीनियर, वैज्ञानिक, मास्टर, स्नातक तैयार किया है, इसके अलावा यहां से 613 लोगों ने पीएचडी की डिग्री भी हासिल की है। प्रो. विश्वास ने एनआइटी राउरकेला में विभिन्न विभागों की जानकारी देने के साथ यहां के शैक्षणिक माहौल की श्रेष्ठता पर भी प्रकाश डाला।

इस अवसर पर एनआइटी बोर्ड ऑफ गर्वनर्स के चेयरपर्सन डा. संतरप्त बी मिश्र ने कहा कि दीक्षांत समारोह को खुशी, पहचान व प्रेरणा का समारोह बताया। उन्होंने मुख्य अतिथि के रूप में आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन डा. कुमार मंगलम बिड़ला की उपस्थिति पर हर्ष जताते हुए कहा कि वे एक सफल व्यक्तित्व है। उनकी उपलब्धि व कार्य शैली हमेशा आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करती है। इस अवसर पर उन्होंने दीक्षा समारोह में शामिल सभी छात्र-छात्राओं के लिए सुखद भविष्य की भी कामना की।

समारोह में एनआइटी के चार पूर्व छात्र-छात्राओं को सम्मानित किया गया। जिनमें 1983 बैच बीएससी इंजीनिय¨रग की मुख्य वैज्ञानिक सीएसआइआर आइएमएमटी भुवनेश्वर डा. स्वाति महंती, 1984 बैच की बीई इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिग नाल्को बोर्ड ऑफ डायरेक्टर की मेंबर की सदस्य सोमा मंडल, 1968 बैच के बीएससी इंजीनिय¨रग इलेक्ट्रिकल व संयुक्त राज्य अमेरिका के वैज्ञानिक डा. ओम अग्रवाल, 1980 बैच बीएससी इंजीनिय¨रग के छात्र उद्यमिता के क्षेत्र में काम करने वाले संजय महंती में से डा. ओम अग्रवाल, डा. स्वाति महंती यह सम्मान लेने पहुंचे थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस