संसू, फर्टिलाइजर : गांधी कॉलेज, देवगांव में गौर चंद्र बेहरा व डा. अशोक बेउरा की देखरेख में सद्भावना सप्ताह मनाया गया। कार्यक्रम का संचालन डा. जज्ञसिनी छतरिया, सहायक अधिकारी अमित खाखा, प्रोफेसर प्रताप महालिक ने किया। इस अवसर पर निबंध, चित्रांकन, भाषण आदि प्रतियोगिता समेत एनसीसी छात्रों को लेकर रैली निकाली गई। साथ ही डा. छतरिया की अध्यक्षता में संगोष्ठी का आयोजन किया गया। इसमें मुख्य वक्ता के तौर पर मनोविज्ञान विभाग के प्रोफेसर ललित मोहन षाड़ंगी, डा. चंद्रिका पटनायक, डा. नमिता रथ, एसएस रहमान ने समाज में सद्भावना को लेकर अपने विचार रखे। प्रोफेसर प्रताप महालिक ने अपना आलेख प्रस्तुत किया। कार्यक्रम में डा. सुरेंद्र बेहरा, अर्पिता महापात्रा, सुजाता होता, बबीता टुडू, जयश्री लकड़ा समेत फैकल्टी, छात्र-छात्राएं शामिल रहे। अंत में अमित खाखा ने धन्यवाद ज्ञापित किया। हमें अनेकता में एकता का परिचय देना है : डालमिया कालेज, राजगांगपुर में शुक्रवार को सद्भावना दिवस मनाया गया। प्राचार्य डा. हीरन लुगुन की अध्यक्षता में आयोजित इस कार्यक्रम में पूर्व अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक सह समाजसेवी लेखक एवं कवि सुमन दत्त मुख्य अतिथि के रूप में शामिल हुए। इस मौके पर मुख्य अतिथि दत्त ने कहा कि भारत विविधताओं में एकता का देश है। यहां सभी धर्म जाति भाषा के लोग एक साथ मिलकर रहते है, जिसकी मिसाल पूरे विश्व में केवल भारत में मिलती है। जिसका मूल आधार सांप्रदायिक सौहार्द एवं सद्भावना ही है। इस लिए हमे धर्म जाति भाषा प्रांत से ऊपर उठकर अनेकता मे एकता का परिचय देना है, जिससे राष्ट्र की संप्रभुता सुरक्षित रह सके। एनएसएस एवं एनसीसी के बैनर तले आयोजित इस कार्यक्रम में डा. तबस्सुम बानो पात्र, जुमाल सिंह, मो. हमीद, आलोक कुमार, शंकर सिंह सहित बड़ी संख्या में छात्र-छात्राएं शामिल थे।

Edited By: Jagran