जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिला और राउरकेला में पिछले कुछ दिनों से कोरोना मरीजों की बेतहाशा बढ़ोतरी के कारण जिलापाल निखिल पवन कल्याण ने जुलाई माह के दौरान सप्ताह में शनिवार और रविवार दो दिन शहर को शटडाउन रखने का निर्देश जारी किया है। शनिवार पहले एक दिन के शटडाउन के बाद रविवार को जिले में कोरोना का आंकड़ा दो अंकों से घटकर एक अंक यानी 8 पर पहुंच गया है। ऐसे में शहरवासियों ने संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए शटडाउन की अवधि को बढ़ाने की मांग की है। कोरोना वायरस की चेन को तोड़ने के लिए जिला प्रशासन को शहर में शटडाउन की अवधि कम से कम 7 से 15 दिनों की करनी चाहिए। इससे कोरोना महामारी को रोकने में काफी मदद मिलेगी।

- दिनेश साहू, युवा वकील, राउरकेला। कोरोना महामारी को रोकने के लिए शटडाउन की अवधि को दो दिन से अधिक बढ़ाया बढ़ाई जाए। ताकि कोरोना वायरस की चेन को तोड़ा जा सके।

- एलए हरि दोरा, युवा वकील। कोरोना संक्रमण से बचने के लिए शहरवासी भी जिला प्रशासन के हर नियम का पालन करने के साथ सहयोग करने के लिए तैयार है। इस नियम में और कड़ाई की जरुरत है।

- रवि कुमार, युवा वकील। शटडाउन की घोषणा की गई है। लेकिन शटडाउन का वास्तविक रूप से पालन नही किया जा रहा है। जिसके कारण शटडाउन का सही लाभ नही मिल पा रहा है।

- रतन पंडा, केंद्रीय कोषाध्यक्ष एसइआरएमसी। शटडाउन की अवधि बढ़ने से लोगों को थोड़ी तकलीफों का सामना करना पड़ेगा। लेकिन कोरोना को हराने के लिए इतना कष्ट उठाना ही पड़ेगा। इसमें शहरवासियों का सहयोग हमेशा रहेगा।

- सुजीत चौधरी, राउरकेला। थोड़ी सी तकलीफ से अगर लोगों की जिदगी को बचाया जा सकता है तो इसके लिए शहर में शटडाउन की अवधि को जरुर बढ़ाना चाहिए। यह किसी एक के लिए नही बल्कि प्रशासन की ओर से शहरवासियों की जिंदगी बचाने के लिए एक बढि़या प्रयास शुरु किया गया है।

- विशन साहू व्यापारी, राउरकेला ।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस