जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिले के हेमगिर ब्लाक शिक्षा अधिकारी सुरेन्द्र कुमार साहू व कार्यालय के जूनियर क्लर्क बिरंची खिलेइ को गुरुवार को 35 हजार रुपये रिश्वत लेते विजिलेंस की टीम ने रंगे हाथ पकड़ लिया। उन्होंने साहसपुर यूपी स्कूल के हेडमास्टर से यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट के लिए रिश्वत मांगी थी। दोनों को गिरफ्तार कर विजिलेंस कोर्ट में पेश करने के साथ ही उनके कार्यालय समेत अन्य ठिकानों पर छापेमारी कर दस्तावेज जब्त कर संपत्ति के बारे में छानबीन की जा रही है।

सुंदरगढ़ जिले के हेमगिर ब्लाक के गर्जनबाहल निवासी व साहसपुर यूपी स्कूल के हेडमास्टर नारायण बाग को वर्ष 2010 का यूटिलाइजेशन सर्टिफिकेट की जरूरत थी, इसमें विलंब होने तथा किसी तरह की विभागीय कार्यवाई 2021 में न हो इसके लिए उससे 35 हजार रुपये रिश्वत जूनियर क्लर्क के जरिए मांगा गया था। नारायण बाग ने इसकी शिकायत राउरकेला विजिलेंस कार्यालय में की थी। इसके अनुसार विभाग की ओर से हेमगिर ब्लाक स्थित शिक्षा विभाग कार्यालय में जाल बिछाया गया। योजना अनुसार गुरुवार को दोपहर करीब 12.30 बजे नारायण बाग ने रिश्वत की राशि जूनियर क्लर्क बिरंची खिलेइ को दिया गया। तभी विजिलेंस टीम ने उसे पकड़ लिया। टीम ने ब्लाक शिक्षा अधिकारी सुरेन्द्र कुमार साहू व जूनियर क्लर्क बिरंची खिलेई को गिरफ्तार किया। इसके साथ ही सुरेन्द्र के कार्यालय व सरकारी आवास, झारसुगुड़ा के कनकतोरा गांव स्थित निवास, क्लर्क विरंची खेलई के लेफ्रीपाड़ा के कुरुमकेल स्थित निवास व कार्यालय में भी जांच कर आवश्यक दस्तावेज जब्त किए गए हैं। दोनों को सुंदरगढ़ विजिलेंस कोर्ट में पेश किया गया।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप