जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिला खनिज कोष प्रबंधन परिषद की आठवीं वार्षिक बैठक जिलापाल व ट्रस्ट के अध्यक्ष निखिल पवन कल्याण की अध्यक्षता में हुई। इसमें कोष के सदुपयोग के लिए दीर्घकालीन योजनाओं पर चर्च करने पर जोर दिया गया। परिषद के सदस्य व सांसद जुएल ओराम, विधयक कुसुम टेटे, लक्ष्मण मुंडा, डा. सीएस राजन एक्का, शंकर ओराम, भवानीशंकर भोइ आदि शामिल थे। उन्होंने एनएच-215 एवं 220, राजामुंडा-कलईपोष मार्ग, हेमगिर में बांकीबहाल-टपरिया मार्ग की मरम्मत, राउरकेला में ट्रक टर्मिनल निर्माण, हाथी प्रभावित क्षेत्र में बेघर लोगों के लिए आवास, हर पंचायत में बच्चों के लिए खेल की सुविधा समेत अन्य योजनाओं पर चर्चा करने के साथ ही प्रस्ताव पारित किए गए।

राजगांगपुर के विधायक डा. सीएस राजन एक्का ने हाथी के उत्पात के चलते बेघर लोगों को आवास योजना में घर उपलब्ध कराने, डीएमएफ की सहायता से सुंदरगढ़ के सभी दुर्गम क्षेत्र की सड़कों की मरम्मत करने, आवागमन की सुविधा उपलब्ध कराने, जिले के विभिन्न ब्लाक व पंचायत क्षेत्र की सड़कों को बेहतर बनाने पर जोर दिया। इसी प्रकार हॉकी के साथ फुटबाल के विकास व बहुमुखी सुविधा के लिए पृष्ठभूमि तैयार करने, ग्रामीण क्षेत्र के जलाशयों के विकास पर भी सदस्यों ने राशि खर्च करने की बात कही। बैठक में ग्रामीण विकास संस्था के परियोजना निदेशक भैरव सिंह पटेल, जिला मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. सरोज कुमार मिश्र, राउरकेला सरकारी अस्पताल के निदेशक डा. संतोष कुमार स्वाईं, सुंदरगढ़ वन मंडल अधिकारी प्रदीप कुमार मिरासे, राउरकेला वन मंडल अधिकारी जशोवंत सेठी, जिला परिषद अध्यक्ष एमा एक्का के साथ विभाग के अधिकारी शामिल हुए। डीएमएफ से आर्थिक सहायता के लिए जिले के विभिन्न विकास कार्य, स्वास्थ्य, पोषण, महिला एवं शिशु विकास, दक्षता विकास, जीविका, शिक्षा, पेयजल, सफाई, दिव्यांगों के कल्याण, ऊर्जा, पर्यावरण सुरक्षा एवं कृषि क्षेत्र में भी काम करने पर बल दिया गया है।

Edited By: Jagran