मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

जागरण संवाददाता, राउरकेला : सुंदरगढ़ जिले में राष्ट्रीय राजपथ 143 पर बीरमित्रपुर से कलईपोष के बीच संभावित दुर्घटना के 12 ब्लैक स्पॉट की पहचान की गई है तथा इन स्थानों पर सुरक्षा एवं सतर्कता बढ़ाई गई है। दूसरी ओर राज्य वाणिज्य व परिवहन विभाग ने जिलापाल से ब्लैक स्पॉट एवं दुर्घटना संभावित क्षेत्रों की पहचान कर इससे संबंधित रिपोर्ट मांगी गई है।

परिवहन विभाग ने राष्ट्रीय राजपथ पर चाडरी हरिहरपुर, जमुनाडीपा, वेदव्यास चौक, टीसीआइ चौक, पानपोष चौक, हॉकी चौक, देवगांव चौक, क¨टगटोला, सुइडीह पुल, चंपाझरन, बरघाट पुल, वीरतोला मोड़ को ब्लैक स्पॉट के रूप में पहचान किया है। इन स्थानों पर सुरक्षा गार्ड तैनात करने के साथ साथ चार धारी वाले क्रॉस बैरियर लगाने के साथ साथ सूचना फलक भी लगाया गया है। इस संबंध में डेढ़ साल पहले सरकार को रिपोर्ट भेजी गई थी।

राउरकेला मोटर यान निरीक्षक प्रसन्न कुमार दास के अनुसार पहचान किए गए ब्लैक स्पॉट पर सतर्कता बढ़ाए जाने से दुर्घटनाओं में कमी आई है। इसके बावजूद वेदव्यास से कलईपोष तक दुर्घटना संभावित क्षेत्र माना जाता है। राउरकेला से संबलपुर तक फोर लेन बीजू एक्सप्रेस वे के निर्माण के बाद बड़गांव, भष्मा के बीच ब्लैक स्पॉट की पहचान की गई है। उन्होंने दुर्घटना के लिए शराब और मोबाइल सबसे बड़ा कारण बताया है।

उल्लेखनीय है कि लगातार दुर्घटना बढ़ोतरी पर सुप्रीम कोर्ट ने भी ¨चता जाहिर की है। इसे रोकने के लिए सरकार को भी आदेश जारी किया है। दुर्घटना रोकने के लिए केंद्रीय सड़क, राजमार्ग एवं परिवहन मंत्रालय की ओर से भी दिशा निर्देश जारी किए गए हैं। हर साल दुर्घटना संभावित क्षेत्र ब्लैक स्पॉट की पहचान कर आवश्यक कदम उठाने का परामर्श दिया गया है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप