संसू, पुरी : श्रीमंदिर प्रशासन की ओर से इस साल रथयात्रा के दौरान तीनों रथों में दानपेटी लगायी जाएगी। इसी में श्रद्धालु श्री जगन्नाथ महाप्रभु के उद्देश्य दान करेंगे। रथयात्रा के समय कोई भी सेवायत ना दान बक्सा रख पाएंगे और ना ही थाली दिखाकर रुपये की वसूली होगी। मुख्य प्रशासक प्रदीप महापात्र ने कहा है कि इस संबंध में छत्तीसा निजोग को पत्र लिखकर अवगत करा दिया गया है। तीनों रथ जब श्री गुंडिचा मंदिर के पास पहुंचेगे, तुरंत तीनों रथों के चारों तरफ लोहे की बैरिकेड लगाने के बाद दानपेटी लगाने की व्यवस्था की गई है। इसके अलावा सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश का सूचना फलक गुंडिचा मंदिर के चारों तरफ लगाया जाएगा। सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश के मुताबिक श्री जगन्नाथ मंदिर का कोई भी सेवक भगवान जगन्नाथ के उद्देश्य से मंदिर में दान-दक्षिणा नहीं वसूल सकेगा।

Posted By: Jagran