पुरी, जागरण संवाददाता :

विश्व प्रसिद्ध रथयात्रा के लिए श्रीक्षेत्र में समन्वय कमेटी की तीसरी बैठक सोमवार को हुई। कानून मंत्री विक्रम केशरी आरुख की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में पंचायतीराज मंत्री महेश्वर महान्ति, नगर विकास मंत्री शारदा नायक, परिवहन मंत्री संजीव साहू, केन्द्रांचल राजस्व आयुक्त तथा श्रीमंदिर के मुख्य प्रशासक डा.अरविन्द कुमार पाढ़ी, आइजी अरुण राय, जिलाधिकारी अरविन्द अग्रवाल, श्रीमंदिर के नीति प्रशासक देवी प्रसाद पंडा, नगरपालिका अध्यक्ष शांतिलता प्रधान समेत विभिन्न विभाग के राज्य व जिला स्तर के पदाधिकारी उपस्थित थे। बैठक में निर्णय के अनुसार सिंहद्वार से गुण्डिचा मंदिर तक स्नानपूर्णिमा से नीलाद्री विजे के मध्य बड़़दांड में मांस बिक्री पर रोक लगा दिया गया है। इसके अलावा बड़दांड के पा‌र्श्व में मौजूद असुरक्षित मकानों पर किसी को भी चढ़ने नहीं दिया जाएगा। रथयात्रा के10 दिन पहले उक्त मकानों को सील कर दिया जाएगा। इसके लिए वरिष्ठ अधिकारियों को लेकर एक कमेटी बनाई जाएगी। इसका विरोध करने पर उक्त व्यक्ति के खिलाफ फौजदारी मामला दायर किया जाएगा। बैठक में नगर विकास विभाग सम्पूर्ण रूप से विफल होने के सवाल पर नगर विकास मंत्री शारदा नायक ने कहा कि हम समीक्षा कर रहे हैं। पुरी परिमल के लिए एक मास्टर प्लान तैयार किया गया है। मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री के समीक्षा से पहले अधिकांश काम पूरा हो जाएगा। रथयात्रा से पहले भक्तों के यातायात के लिए 25 सिटी बस चलाई जाएंगी। कानून मंत्री श्री आरूख ने रथयात्रा को शांति संपन्न कराने के लिए सभी से सहयोग मांगा है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर