पुरी, जागरण संवाददाता

चिलका झील के भोवनिया जाण को लेकर संघर्ष बढ़ने के साथ संपृक्त इलाके में अशांत वातावरण उत्पन्न हो गया है। इस विवाद को लेकर चिलका बार-बार अशांत हो रहा है। पिछली शनिवार रात को यहां हुए बम विस्फोट से गोला गांव के 4 युवक घायल हो गए हैं। गोला गांव के अधिवासी ऐसी अशांति फैला रहे हैं और हिंसात्मक वातावरण पैदा करने का अभियोग पणसपदा गांव के मां हरचण्डी मत्स्य समवाय समिति ने किया है।

रविवार अपराह्नं के समय पुरी में आयोजित एक पत्रकार सम्मेलन में पणसपदा गांव के समवाय समिति कार्यकर्ता दुशासन प्रधान, पवित्र प्रधान, बीजबर दलई, सुशील कुमार साहू, पंचु बेहेरा, भरत बेहेरा और ज्ञान चांद प्रधान प्रमुख ने पत्रकारों को सूचना देते हुए कहा कि शनिवार को गोला गांव में हुई बमबारी घटना से स्पष्ट हो रहा है कि वे पणसपदा पर हमला करने की योजना बना रहे थे। समिति सदस्यों ने कहा कि पणसपदा गांव के पास मौजूद भोवनिया जाण को केन्द्र कर बार बार हिंसात्मक घटना हो रही है, मगर इसका कोई भी स्थाई समाधान नहींकिया जा रहा है। सियारा गोला ग्रामवासियों ने हर समय बम, बंदूक के साथ पणसपदा पर हमला करते हैं। गोला गांव के लोग कुमारपुर और सोरण इलाके से पेशेदार बम बनाने वालों को लाकर बम बनाने के समय विस्फोट होने से 4 घायल हो गए और इस घटना को छिपाने के लिए गोला गांववासी बम तैयारी को आवश्यक कंकड़, सूतली, फास्फोरस और बारुद को मिट्टी में गाड़ दिए थे, जिसे पुलिस ने बरामद किया है। पणसपदा गांव वालों ने कहा है कि 2000 साल में पणसपदा गांव पर हमला करने को गोला गांव वाले बम बना रहे थे उस समय हुए विस्फोट में दो लोगों की मौत हो गई थी। गोला गांव के लोग पणसपदा पर हमला करने का अभियोग इस बात से सिद्ध हो रहा है। इसके अलावा गोला गांव में गैरकानूनी बंदूक और बम भारी मात्रा में मौजूद है। गलत आरोप लगाकर पणसपदा गांव के बदनाम करने की कोशिश की जा रही है। काफी सालों से पणसपदा ग्रामवासी भोवनिया जाण को अपनी जीविका के लिए प्रयोग कर रहे थे। जिला प्रशासन इस जाण को नीलाम कर दिए। जिससे संघर्ष शुरू हो गया। इस जाण में 1346 एकड़ जमीन रहने के समय पणसपदा गांव के पास 649 एकड़ जमीन प्रशासन गोला गांव को लीज दे दिया है, जिससे 4000 से ज्यादा लोग अपनी जीविका खो दिए। पत्रकार सम्मेलन में पणसपदा गांववासियों ने कहा है कि किसी भी स्थिति में भोवनिया जाण को नहीं छोड़ा जाएगा। इस विवाद के अन्त के लिए उच्च स्तरीय जांच की भी इन लोगों ने मांग किया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस