जागरण संवाददाता, पुरी : बुधवार को होने वाली घोषयात्रा के लिए 10 लाख लोगों के समागम को ध्यान में रखते हुए सरकार की तरफ से सभी तैयारी कर ली गई है। सुबह 9 बजे से ही श्रीक्षेत्र में काफी लोगों के समागम की संभावना है। श्रीमंदिर प्रशासन की ओर से महाप्रभु की सभी कार्य व्यवस्थावली तैयार की गई है।

व्यवस्थावली के अनुसार सुबह 5 बजे मंगल आरती, 5:10 बजे मइलम नीति, 5:30 बजे तड़पलागी, 6:10 बजे सूर्य पूजा और 6:30 बजे द्वारपाल पूजा होगी। इसके बाद सुबह 7 बजे महाप्रभु का खिचड़ी भोग किया जाएगा। 8:30 बजे श्रीमंदिर के पुरोहित तीनों रथ को प्रतिष्ठापित करेंगे। 8:45 बजे मंगलार्पण होकर सुबह 9 बजे महाप्रभु के पहंडी विजे आरंभ होगा। 12 बजे के अंदर पहंडी खत्म किया जाएगा। इसके बाद चलंति प्रतिमा मदन मोहन 12:30 बजे तीनों रथ के ऊपर विराजमान करेंगे। इसके बाद महाप्रभु की फीता लागी की जाएगी। मध्याह्नं 1 से 2 बजे के बीच गजपति महाराज दिव्य सिंहदेव मेहेना में आकर तीनों रथ पर छेरा पहंरा करेंगे। बाद में घोड़ा और सारथी रथ पर लगेगा। दिन के तीन बजे रथ खींचने का कार्यक्रम निर्धारित किया गया है। यह सभी नीति ठीक ढंग से करने के लिए श्रीमंदिर के मुख्य प्रशासक डॉ. अरविन्द पाढ़ी, जिलाधीश नव कुमार नायक ने सेवायतों से अनुरोध किया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर