जागरण संवाददाता, पुरी : श्रीमंदिर प्रशासन ने महाप्रभु जगन्नाथ जी की स्नान और रथ यात्रा की तैयारी शुरू कर दी है। रथ यात्रा उत्सव निर्विघ्न संपन्न कराने के लिए दइतापति निजोग सेवायतों के साथ श्रीमंदिर प्रशासन की बैठक हुई। इसमें मोटे तौर पर व्यवस्था की रूपरेखा तय की गई।

बैठक में आरडीसी डा. अरविन्द पाढ़ी ने महाप्रभु की घोष यात्रा और स्नान यात्रा निर्विघ्न निकालने में सेवायतों से सहयोग देने का अनुरोध किया। ज्येष्ठ शुक्ल त्रयोदशी से महाप्रभु की नीलाद्री विजे तक सभी अनुष्ठानों को संपन्न करने का बैठक में निर्णय लिया गया। श्रीमंदिर के मुख्य प्रशासक डा.पाढ़ी, जिलाधीश नवकुमार नायक, प्रशासक (नीति) देवि प्रसाद पण्डा, दइतापति निजोग के अध्यक्ष रामकृष्ण दासमहापात्र, सचिव प्रेमानंद दासमहापात्र, जगन्नाथ के बाड़ग्राही जगन्नाथ स्वांई महापात्र और अन्य ने श्रृंखला व्यवस्था करने में सहयोग का आश्वासन दिया। गरुड़ स्तंभ के पास से महाप्रभु का दर्शन होने के कारण सेवायतों को जो नुकसान हो रहा है, उसके बदले में श्रीमंदिर प्रशासन की ओर से दी जा रही राशि पर्याप्त न होने पर भी बैठक में चर्चा की गई। इस वर्ष राशि बढ़ाने का मुख्य प्रशासक ने आश्वासन दिया। महाप्रभु पूजा-अर्चना संपन्न कराने के लिए मुख्य प्रशासक ने दइतापतियों से भी सहयोग मांगा। रथ के ऊपर महाप्रभु के स्वर्ण वेश के समय अधिक संख्या में सेवायतों के सामने बैठ जाने से दूर-दराज से आए भक्तों के दर्शन नहींकर पाने पर बैठक में विस्तार से चर्चा की गई। महाप्रभु के सामने खड़े होकर दर्शन में अवरोध न उत्पन्न होने देने का दइतापति निजोग की तरफ से आश्वासन दिया गया। भक्तों को दर्शन की सुविधा देने में दइतापति निजोग सेवायत सहयोग करेंगे।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर