संवाद सूत्र, झारसुगुड़ा : पश्चिम ओडिशा को अलग कोसल राज्य बनाने की मांग एक बार फिर तेज हो गई है। जिसमें कोसल युवा समन्वय समिति ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से भी अलग राज्य पर समथर्न की मांग की है। साथ ही अलग कोसल राज्य नहीं तो वोट नहीं का नारा दिया गया है। समिति की एक बैठक में इस आशय की जानकारी दी गई।

समिति के केंद्रीय कमेटी के अध्यक्ष नीलाद्री पंडा की अध्यक्षता में हुई बैठक में केंद्रीय मुख्य संयोजक प्रमोद मिश्र ने कहा कि अब अपनी मातृभूमि की मुक्ति के लिए युवाओं को लड़ाई लड़नी होगी। उन्होंने कहा कि आगामी 22 सितंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झारसुगुड़ा के दौरे पर आ रहे हैं। जिससे विभिन्न राजनीतिक दल अपनी मांगों को लेकर उनका ध्यान दिलाने का प्रयास कर रहे हैं। जिसमें समिति भी चाहती है कि अलग कोसल राज्य के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपना समथर्न देने की घोषणा भी इस दौरे पर करें। अन्यथा आगामी आम चुनाव से पूर्व अलग कोसल राज्य नहीं तो वोट नहीं अभियान चलाया जाएगा। जिसमें अलग कोसल राज्य का समथर्न न करने वाले राजनीतिक दलों का जोरदार विरोध भी होगा। इस बैठक में समिति की प्रदेश कमेटी का पुनर्गठन भी किया गया। नयी कमेटी में नीलाद्री पंडा को अध्यक्ष, लिपसिता मिश्र को कार्यकारी अध्यक्ष, मनसुख समासी व रिलू रथ को उपाध्यक्ष तथा सव्यसाची पुजारी को महासचिव बनाया गया है। इसके समेत अन्य पदों पर भी पदाधिकारियों का चयन किया गया।

Posted By: Jagran