जागरण संवाददाता, भुवनेश्वर : चार्टर्ड एकाउंटेंट ऑफ इंडिया, कटक का दो दिवसीय राष्ट्रीय सम्मेलन शुक्रवार की शाम स्थानीय शहीद भवन में शुरू हुआ। इसका उद्घाटन केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेद्र प्रधान ने किया। इस मौके पर प्रधान ने कहा कि देश के विकास में चार्टर्ड एकाउंट की भूमिका अहम है। प्रधान ने बताया कि जीएसटी केंद्र सरकार का अहम निर्णय है। इसके चलते पहले कुछ दिनों तक लोगों को कुछ मुश्किलें हुई मगर अब इसमें सुधार आ गया है। पेट्रोलियम के उत्पाद में भी जीएसटी को शामिल किया जाना चाहिए। विश्व के जिस देश में जिस सरकार ने जीएसटी को लागू किया इसके बाद वह सरकार सत्ता से चली गई। हमें यकीन है कि हमारे क्षेत्र में ऐसा कुछ नहीं होगा। जीएसटी का फायदा क्या है, यह अब सबको पता चलने लगा है। प्रधान ने कहा कि केंद्र सरकार के चार साल शासन में क्या क्या कदम उठाए गए हैं, इस बारे में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने कटक में आकर पूरे देश को हिसाब दिया है। ओडिशा को प्रधानमंत्री ने हमेशा अहमियत दी है। 13वें वित्त आयोग के तहत केंद्र की तरफ से जहां भाजपा सरकार से पहले राज्यों को 100 में से 32 फीसदी अनुदान दिया जा रहा था वहीं मोदी सरकार के दौरान यह आकड़ा 42 फीसदी तक पहुंच गया है।

कटक शाखा के कार्यकारी अध्यक्ष प्रशांत कुमार महापात्र की अध्यक्षता में आयोजित सम्मेलन के पहले दिन के तकनीकी सेशन में बेनामी कारोबर कानून एवं ईएसेस्मेंट के ऊपर इनकम टैक्स के प्रधान आयुक्त देवेन्द्र नारायण कर, वकील कपिल गोयल आदि ने विस्तार से जानकारी दी। सम्मेलन में बतौर सम्मानित अतिथि चार्टर्ड एकाउंटेंड संघ के पूर्व अध्यक्ष सुबोध कुमार अग्रवाल, वित्तीय विकास कमेटी के अध्यक्ष रंजीत कुमार अग्रवाल, पूर्वांचल परिषद के अध्यक्ष सोनू जैन समेत कटक शाखा के अध्यक्ष सत्यानंद राउतराय, अभिजीत पात्र प्रमुख शामिल थे।

Posted By: Jagran