कटक, जेएनएन। पुलिस एवं हाईकोर्ट के वकील के बीच बुधवार को हुए विवाद में कमिश्नरेट पुलिस ने कड़ा कदम उठाते हुए तीन पुलिसकर्मियों को निलंबित कर दिया जबकि एक होमगार्ड को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। बुधवार को हाईकोर्ट के वरिष्ठ वकील देवी प्रसन्न पटनायक की कार से एक स्कूली छात्रा के घायल हो जाने की घटना में चाउलियागंज की पुलिस ने वकील के साथ मारपीट की थी। इसको लेकर राज्य भर के वकीलों में आक्रोश है।

गुरुवार को एक पत्रकार सम्मेलन में कटक डीसीपी अखिलेश्वर सिंह ने जानकारी देते हुए कहा कि समूची घटना की प्राथमिक जांच रिपोर्ट आने के बाद यह कदम उठाया गया है। निलंबित पुलिसकर्मियों में हवलदार प्रसन्न कुमार बेहेरा, कांस्टेबल दिलीप कुमार सामल एवं उदय कुमार भुयां शामिल हैं। जबकि एक होमगार्ड किशोर कुमार जेना को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। घटना के बाद पुलिस कमिश्नरेट की ओर से अतिरिक्त डीसीपी गुप्त महाकुड़ को जांच की जिम्मेदारी दी गई थी। उन्होंने नयाबाजार के पास मौजूद शास्त्री नगर घटी इस घटनास्थल का दौरा कर वहां लोगों से पूछताछ की थी। यहां तक कि कुछ व्यापारी व अन्य लोगों से पूछताछ कर बुधवार को अपनी प्राथमिक जांच रिपोर्ट डीसीपी को सौंप दी थी।

इसी रिपोर्ट के आधार पर यह कार्रवाई हुई है और इस घटना की निष्पक्ष जांच के लिए अतिरिक्त डीसीपी मायाधर सेठी को निर्देश दिया गया है। एक क्राइम इंस्पेक्टर के जरिए जांच की जाएगी और आगे की कार्रवाई होगी। इधर, इस घटना को लेकर राज्य भर में वकीलों के आंदोलन ने तूल पकड़ लिया है। बुधवार को हाईकोर्ट बार एसोसिएशन ने एक बैठक कर गुरुवार से राज्यभर में कार्यबंद आंदोलन चलाने निर्णय लिया था।

इसमें कटक के तमाम बार के वकील आंदोलन में शामिल हुए। इससे पूर्व बुधवार को हाईकोर्ट के पास रास्ता अवरोध करने के साथ पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। इसके बाद आरडीसी कार्यालय के पास उत्तेजना देखने को मिली थी। वहां भद्रक से आई पुलिस वैन में किसी ने आग लगा दी, जिसमें वह पूरी तरह से जल गई। बाद में पुलिस कमिश्नर सत्यजीत महांती ने शाम को पत्रकारों से बातचीत में घटना की निष्पक्ष जांच कराने के बारे में जानकारी दी। उन्होंने बताया कि तीन मामला दर्ज किया गया है। उन्होंने वकीलों से शांति बनाए रखने की अपील की। वहीं हाईकोर्ट बार एसोसिएशन के पदाधिकारी हाईकोर्ट के मुख्य न्यायाधीश से मुलाकात कर घटना की जानकारी दी एवं उनसे सहयोग मांगा। एसोसिएशन ने घटना में दोषी पुलिस कर्मचारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की थी। इसके साथ ही राज्य के तमाम बार एसोसिएशन से समर्थन देने की अपील की गई थी। इससे गुरुवार को पूरे राज्य में वकीलों का आदोलन जारी रहा।

बालेश्वर में वकीलों ने किया कार्यबंद आंदोलन जासं बालेश्वर

एक छोटी सी बात को लेकर कटक पुलिस द्वारा हाईकोर्ट के वकील के साथ की गई मारपीट की घटना को लेकर गुरुवार को वकीलों ने कार्यबंद आंदोलन किया। जागरण से बात करते हुए बालेश्वर बार एसोसिएशन के महासचिव संबित नंदी एवं वरिष्ठ वकील मनोज नायक ने बताया कि कटक के चाउलियागंज थाना के कुछ पुलिस वालों ने उच्च न्यायालय के वरिष्ठ वकील देवी प्रसन्न पटनायक के साथ मारपीट की। इस घटना के विरोध में एसोसिएशन कार्यबंद आंदोलन पर है। इसके चलते बालेश्वर की कचहरी में कोई काम नहीं होगा। उन्होंने कहा कि जब तक उक्त पुलिस वाले को नौकरी से बर्खास्त या सख्त कार्रवाई नहीं की जाती है, आंदोलन जारी रहेगा।