जागरण संवाददाता, कटक कटक जिला के बांकी थाना अंतर्गत तालबस्त गांव में शनिवार को रामकृष्ण नायक के 16 दिन के नवजात बच्चे को बंदर द्वारा लेकर भाग जाने की घटना न सिर्फ कटक शहर बल्कि पूरे प्रदेश में चर्चा का विषय बन गई थी। उक्त बच्चे का शव रविवार को सुबह पड़ोसी के घर के बगल में मौजूद कुएं से बरामद किया गया है। इससे पूरे गांव में शोक की लहर फैल गई है।

सुबह कुएं से पानी निकालने गए कुछ लोगों ने बच्चे का शव कुएं में देखा। उन्होंने इस बात की जानकारी बच्चे के परिवार वालों को दी। इसके बाद शव को बाल्टी के जरिए कुएं से बाहर निकाला गया। शव को पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल भेज दिया गया है। बताया जाता है कि शनिवार की सुबह नवजात अपने माता-पिता के साथ उन दोनों के बीच में सो रहा था। तभी एक बंदर आया और उसे उठा ले गया। इसके बाद सूचना मिलने पर वन विभाग की टीम एवं दमकल कर्मचारी दिन भर सर्च आपरेशन चलाया। शनिवार को नवजात का कहीं अता पता नहीं चला। रात हो जाने के कारण सर्च आपरेशन को बंद कर दिया गया था। उक्त शिशु के पिता ने इस दौरान हनुमान मंदिर में लेटकर काफी देर तक गुहार लगाई थी। साथ ही थाना में भी शिकायत दर्ज कराई गई थी। घटना के 24 घंटे बाद नवजात का शव कुएं से बरामद किया गया। इस घटना के बाद से चर्चा हो रही है क्या सही में बंदर ने ही नवजात को कुएं में डाल दिया, या इसके पीछे कोई और कारण है। फिलहाल पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया और घटने की छानबीन कर रही है।

Posted By: Jagran