संवादसूत्र, कटक : ओडिशा वीरों की धरती है। इस धरती की संतान ओडिशा के स्वाभिमान एवं गौरव के लिए काम कर रहे हैं। राज्य के प्रत्येक गांव, प्रत्येक शहर एवं प्रत्येक घर में गोपबंधु, मधु बाबू, बीजू बाबू जैसे धर्मपद एवं महान लोग हैं। ऐसे में युवाओं में छिपी प्रतिभा की पहचान करने एवं उसे स्वीकृति प्रदान करने बीजू युवा वाहिनी के 'मुं हीरो, मुं ओडिशा' (मैं हीरो, मैं ओडिशा) कार्यक्रम का मुख्य लक्ष्य है। सोमवार को जवाहरलाल नेहरू इंडोर स्टेडियम, कटक में आयोजित मुं हीरो, मुं ओडिशा कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने यह बात कही है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि कि इस कार्यक्रम में डॉक्टर, इंजीनियर, शिक्षक, किसान यहां तक कि सामान्य महिला के साथ सभी वर्ग के लोगों को शामिल किया जाएगा। सामान्य एक आदमी बहुत बड़ा काम कर सकता है। वे ही हकीकत के हीरो हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि ऐसे कई लोग आज यहां भी उपस्थित हैं। ये ही समाज के लिए सही मायने में प्रेरणास्त्रोत हैं। सभी के संयुक्त प्रयास से ही ओडिशा का विकास संभव है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने विभिन्न क्षेत्र में विशेष योगदान देने वाले 6 युवाओं को सम्मानित किया। इस मौके पर बीजू युवा वाहिनी की वेबसाइट एवं मुं हीरो, मुं ओडिशा संगीत का भी मुख्यमंत्री ने लोकापर्ण किया। इस मौके पर मुं हीरो, मुं ओडिशा शीर्षक एक फिल्म भी दिखाई गई।

राज्य खेल एवं युवा विभाग के सचिव विशाल कुमार देव ने स्वागत भाषण दिया जबकि राज्य युवा कल्याण बोर्ड के कार्यकारी अध्यक्ष अरूप पटनायक ने कार्यक्रम के उद्देश्य के बारे में जानकारी दिए। खेल मंत्री चंद्र सारथी बेहरा, स्वास्थ्य मंत्री प्रताप जेना, सांसद अनुभव महांती, विधायक देवाशीष सामंतराय, प्रभात त्रिपाठी, डॉ. दिलीप मलिक, राज्य पर्यटन निगम के अध्यक्ष दिलीप तिर्की, जिलाधीश अर¨वद अग्रवाल प्रमुख उपस्थित थे। युवा कल्याण परिषद की मुख्य अधिकारी चंचल राणा ने धन्यवाद ज्ञापन किया।

छह गाड़ियों को झंडी दिखा किया रवाना

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने मुं हीरो, मुं ओडिशा कार्यक्रम के तहत छह गाड़ियों को झंडी दिखाकर रवाना किया। ये गाड़ियां राज्य के 314 ब्लॉक में दो महीने तक घूमेंगी और विशेष प्रतिभाओं की खोज की जाएगी। 15 से 35 साल के युवा अपना आवेदन योजना के लिए दे सकेंगे।

Posted By: Jagran