संसू, कटक : कुख्यात गैंगस्टर टीटो उर्फ सैयद उस्मान अली किसके प्रोत्साहन से अपना आपराधिक साम्राज्य फैलाया था, भाजपा ने मुख्यमंत्री से जवाब मांगा है। भाजपा के प्रदेश प्रवक्ता पीतांबर आचार्य ने बुधवार को नगर में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि टीटो का तटवर्ती 10 जिलों में आपराधिक नेटवर्क था। इस दौरान उसने बालू, मुरुम, नदी बांध मरम्मत जैसे कुल 11 विभाग में टेंडर फिक्सिंग करने के साथ टेंडर लिए। इसमें शासक बीजू जनता दल (बीजद) के नेता व अधिकारी उसका सहयोग कर रहे थे। आचार्य ने कहा कि गृह एवं जल संसाधन विभाग मुख्यमंत्री के पास है तो उन्हें इस संबंध में कैसे कुछ पता नहीं था। टीटो के साथ बीजद नेता के लिंक एवं संलिप्तता को छिपाने के लिए जानबूझकर सरकारी बाबू का ¨लक उसके साथ जोड़ा जा रहा है।

आचार्य ने कहा कि टीटो ¨लक की छानबीन के दौरान शासक दल के नेता व अधिकारी फंस जाएंगे, इसी के चलते सरकार ने जांच की जिम्मेदारी विजिलेंस को सौंप दी। टीटो के पेट्रोल पंप आवंटन से लेकर तमाम घटनाओं की जांच सीबीआइ को सौंपने के लिए भाजपा मांग कर रही है। इससे शासक दल में भय का माहौल है। सरकार द्वारा एसटीएफ से जांच की जिम्मेदारी लेकर विजिलेंस को देना, शासक दल की संलिप्तता पर संदेह बढ़ा रहा है। उन्होंने टीटो के आपराधिक साम्राज्य की सच्चाई को जानने के लिए सीबीआइ से जांच कराने की मांग की।

Posted By: Jagran