कटक, जेएनएन। नगर के गोविंदपुर इलाके में एक युवक की हत्या होने के बाद आक्रोशित लोगों ने जमकर बवाल काटा। घटनास्थल पर जांच करने पहुंचे पुलिस अधिकारी के साथ धक्कामुक्की करने समेत नारेबाजी की गोविंदपुर थाना अंतर्गत कजलपुर गांव निवासी कांदुरा भोई की गुरुवार रात को कुछ अपराधियों ने घर से बुलाकर हत्या कर दी। 

इसकी जानकारी मिलने पर परिजन समेत आसपास के लोग थाना पहुंचे और लिखित शिकायत की। इसके साथ ही अभियुक्त को गिरफ्तार करने की मांग करते हुए लोगों ने गोविंदपुर-कटक मार्ग को जाम कर दिया। इससे सड़क के दोनों ओर वाहनों की कतार लग गई।

पुलिस जब प्रदर्शनकारियों को वहां से हटाने के लिए गई तो उत्तेजित लोगों ने पुलिस के साथ भी धक्का-मुक्की शुरू कर दी। पुलिस ने किसी तरह से उत्तेजित लोगों को समझाकर यातायात बहाल कराया। पुलिस आरोपितों को पकडऩे के लिए कटक सदर, निआली एवं गोविंदपुर इलाके में कई जगह रात तमाम छापेमारी की है। शुक्रवार सुबह तक आरोपितों का कहीं पता नहीं चल सका था।

पुलिस मुठभेड़ में कुख्यात संतोष बेहरा घायल, भर्ती

गंजाम जिला के रंभा इलाके में पुलिस से मुठभेड़ में कुख्यात अपराधी संतोष बेहरा के घायल होने की सूचना है। संतोष के दोनों घुटने में गोली लगी है। उसे इलाज के लिए छत्रपुर उपखंड अस्पताल में भर्ती किया गया है।  पुलिस ने उसके पास से पिस्तौल, जिंदा कारतूस, बाइक जब्त किया है।

हालांकि इस मुठभेड़ के दौरान संतोष का एक सहयोगी पुलिस की नजर बचा भाग निकला। घटना शुक्रवार तड़के की है। उल्लेखनीय है कि रंभा थाना क्षेत्र के खंटादेउली गांव निवासी कुख्यात संतोष बेहरा के नाम पर विभिन्न थानों में 15 मामले दर्ज हैं। पुलिस संतोष के फरार सहयोगी की तलाश कर रही है। हालांकि खबर लिखे जाने तक उसका कोई सुराग नहीं मिला था।

संदिग्ध आतंकी अब्दुल के भाई पर गोली चलाने वाले गिरफ्तार 

नगर के चाउलियागंज में गुरुवार शाम को कमिश्नरेट पुलिस के साथ मुठभेड़ में दो कुख्यात अपराधी घायल हुए हैं, जिन्हें एससीबी मेडिकल, कटक में भर्ती किया गया है। घायल अपराधियों का नाम काला बाबू एवं अलेख राउतराय है। ये दोनों टीटो गैंग के सदस्य हैं। दोनों के पैर में गोली लगने की जानकारी डीसीपी अखिलेश्वर सिंह ने दी है। 

डीसीपी सिंह ने बताया कि संदिग्ध आतंकवादी अब्दुल रहमान के भाई ताहिर को गोली मारने के मामले में भी ये दोनों शामिल थे। डीसीर्पी ंसह केमुताबिक, दोनों अपराधियों के चाउलियागंज इलाके में छिपे होने की पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी।

इसी सूचना के आधार पर पुलिस ने वहां छापा मारा। पुलिस को देखते ही दोनों अपराधियों ने पुलिस पर फायरिंग कर दी। जवाबी कार्रवाई में दोनों घायल हुए हैं। पुलिस ने इनके पास से एक बंदूक, दो राउंड गोली बरामद किया है। काला बाबू के नाम पर विभिन्न थानों में 10 से अधिक आपराधिक मामले पहले से दर्ज हैं। डीसीपी ने बताया कि शहर में कानून-व्यवस्था दुरुस्त करने के लिए अपराधियों के खिलाफ अभियान जारी रहेगा।

Posted By: Babita