संवादसूत्र, भुवनेश्वर : राज्य में करोड़ों रुपये के चिटफंड घोटाले में अपनी जमापूंजी गंवाने वाले हजारों लोगों के लिए अच्छी खबर है। राज्य सरकार ने 10 हजार रुपये तक जमा करने वाले जमाकारियों को पहले चरण में पैसा वापस करने के लिए प्रक्रिया आरंभ कर दी है। इसके तहत पहले चरण में चिह्नित 1 लाख 16 हजार 504 छोटे जमाकारियों में से 88 हजार लोगों को सरकार उनकी रकम वापस करने जा रही है।

उल्लेखनीय है कि विभिन्न लुभावने वायदे कर चिटफंड कंपनियां प्रदेश में लाखों लोगों से करोड़ों रुपये एकत्र कर फरार हो गई थीं। चिटफंड घोटाले की जांच के लिए सरकार ने जांच आयोग का गठन किया और जांच आयोग की रिपोर्ट के आधार पर अब छोटे जमाकारियों की जमा पूंजी वापस करने की प्रक्रिया शुरू की गई है। प्रदेश में 1 लाख 16 हजार 504 छोटे जमाकारियों की पहचान की गई है। पहले पर्याय में तकरीबन 88 हजार जमाकारियों को जमा राशि वापसी कराई जाएगी। इसके लिए उनसे इंडेमिनिटी बांड पर हस्ताक्षर सहित बैंक पासबुक की प्रति मांगी गई है। इधर, कई जमाकारियों ने रसीद वाले शर्त पर आपत्ति जताई है। उनके अनुसार रसीद को दिखाना संभव नहीं है क्योंकि उन्होंने कभी नहीं सोचा था कि पैसा डूब जाएगा और रसीद को संभालकर रखना होगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस