मोदी सरकार - 2.0 के 100 दिन

भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। ओडिशा के अति पिछड़े आदिवासी व नक्सल प्रभावित मलकानगिरी जिले की बेटी अनुप्रिया लकड़ा ने अपनी कड़ी मेहनत व लगन से हवाई जहाज उड़ाने का सपना साकार किया है। मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने अनुप्रिया को बधाई दी है।

मलकानगिरी की आदिवासी बेटी अनुप्रिया जिले की पहली महिला पायलट बनी है। अनुप्रिया को इस सफलता के लिए विभिन्न वर्ग से बधाई मिल रही है। अपनी कड़ी मेहनत व लगन के बल पर अनुप्रिया ने यह सफलता हासिल की है और अब वह देश-विदेश में मलकानगिरी जिले का प्रतिनिधित्व करेगी।

ओडिशा पुलिस में हवलदार रहने वाले मारनियम लकड़ा व जमाज आसमिल लकड़ा की बेटी अनुप्रिया का घर मलकानगिरी जिले में है। स्थानीय दिप्ती कान्वेंट स्कूल में प्राथमिक शिक्षा के बाद वह पढाई के लिए सिमिलीगुड़ा चली गई थी। यहां पर उसने जीवन ज्योति विद्यालय में प्लस-2 की पढ़ाई करने के बाद भुवनेश्वर स्थित एक इंजीनियरिंग कालेज में नाम लिखाया। हालांकि पायलट बनने की कोशिश के चलते उसने इंजीनियरिंग की पढ़ाई बीच में ही छोड़ दी।

इसके बाद उन्होंने भुवनेश्वर के गोची इंस्टीट्यूट में प्रशिक्षण के लिए आवेदन किया। यहीं से उसने दिल्ली, बेंगलुरू, मुंबई में पायलट प्रशिक्षण के लिए प्रवेश परीक्षा देकर योग्यता हासिल किया। अनुप्रिया का 2012 में पायलट प्रशिक्षण शुरू हुआ था। इसके लिए उसे स्टाईपेंड भी मिला था। सफलता के साथ प्रशिक्षण लेने के बाद अनुप्रिया एक निजी एयरलाइन कंपनी में को-पायलट बनी है। अनुप्रिया ने कहा है कि माता-पिता के आशीर्वाद व कठिन मेहनत के बल मैंने यह सफलता हासिल की है। 

Posted By: Sachin Mishra

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप