भुवनेश्वर, जागरण संवाददाता। दशहरा के बाद राज्य में चक्रवात आने को लेकर जो चर्चा हो रही थी, उस पर आज मौसम विभाग ने विराम लगा दिया है। भारतीय मौसम विभाग के महानिदेशक मृत्युंजय महापात्र ने कहा है कि ओडिशा में चक्रवात आने का खतरा टल गया है। हालांकि प्रदेश के कुछ हिस्से मे बारिश होगी।

आईएमडी मृत्युंजय महापात्र ने कहा है कि हमारे पूर्वानुमान के अनुसार चक्रवात के प्रभाव से आज पूर्व केन्द्रीय बंगोपसागर में एक कम दबाव का क्षेत्र बना है। यह धीरे-धीरे गति कर 15 अक्टूबर को दक्षिण ओड़िशा एवं उत्तर आन्ध्र तट पर सक्रिय होगा। इसके प्रभाव से 17 अक्टूबर तक ओड़िशा में सामान्य से मध्यम स्तर की बारिश हो सकती है। हालांकि कुछ एक जगहों पर भारी बारिश हो सकती है।

आईएमडी डीजी महापात्र ने कहा है कि तटीय ओडिशा में शुक्रवार को बारिश होने की सम्भावना है। बाद में अंदरूनी ओड़िशा में बारिश होगी। कम दबाव का क्षेत्र के रूप में ही यह तटीय क्षेत्र को पार करेगा। ऐसे में किसी भी प्रकार के चक्रवात की सम्भावना नहीं है। इसके प्रभाव से केवल बारिश होगी। तटीय ओड़िशा में समुद्र के ऊपर हवा की गति 40 से 50 किमी. प्रति घंटा रह सकती है। ऐसे में मछुआरों को समुद्र में ना जाने की सलाह दी गई है।

Edited By: Babita Kashyap