भुवनेश्वर, जेएनएन। ओडिशा के कंधमाल जिला में दंगा पीड़ितों की एक सभा में शिरकत करने पहुंचे स्वामी अग्निवेश ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) और भाजपा को निशाने पर लिया है। सभा को संबोधित करते हुए स्वामी अग्निवेश ने कहा कि देश में धर्म और जाति के नाम पर राजनीति हो रही है। सांप्रदायिक शक्तियों का सिर उठाना राजनीति के लिए खतरा उत्पन्न कर रहा है।

नेशनल सलिडारिटी फोरम की ओर से आयोजित इस सभा में स्वामी अग्निवेश ने कहा कि वर्तमान धर्म और जाति के नाम पर हो रही हिंसा का जवाब 2019 में ¨हसा से नहीं अपितु वोट से दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि कट्टर हिंदू विचार धारा के लोग उन पर लगातार आक्रमण कर रहे हैं, पर वे डरने वाले नहीं हैं। उन्होंने सवालिया लहजे में कहा कि प्रधानमंत्री जी इन हमलों पर खामोश क्यों हैं। सभा में हर्ष मंदर ने कहा कि वर्तमान की दक्षिणपंथी सरकार गणतांत्रिक व्यवस्था को ताक पर रखते हुए अपने ढंग से शासन चला रही है।

परंजय गुहा ने कहा कि भारत में हिटलर की विचारधारा वाले दो लोग शासन पर नियंत्रण बनाए हुए हैं। उनका इशारा पीएम मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की तरफ था। कंधमाल दंगे के समय भाजपा व आरएसएस की भूमिका की चर्चा करते हुए सामाजिक कार्यकर्ता पुष्पांजलि पंडा ने दंगा पीड़ितों के दु:ख दर्द का बखान किया। इस मौके पर दंगा पीड़ित तो महिलाओं ने सबके समक्ष अपना दर्द बयां किया।