संसू, भुवनेश्वर : उच्च शिक्षा विभाग ने कम दाखिले को लेकर 15 डिग्री कॉलेजों को नोटिस जारी किया है। चार-चार बार एडमिशन के लिए सुविधा दिए जाने के बावजूद इन कॉलेजों में सीटें खाली रहीं। सबसे खराब हालात वाणिज्य संभाग की है। कई कॉलेजों में वाणिज्य पाठ्यक्रम को बंद कराने की नौबत आ गई है। इंजीनिय¨रग, एमबीए, एमसीए जैसे पाठ्यक्रमों में सीट खाली पड़ने के समाचार के मध्य साधारण पाठ्यक्रमों में सीटें खाली पड़ना इन दिनों चर्चा का विषय बना हुआ है। विभाग द्वारा जिन 15 कॉलेजों को कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। उनमें पुरी जिले के निमापड़ा महिला कॉलेज, भुवनेश्वर के जुपिटर कॉलेज, गौरव कॉलेज ऑफ साइंस एंड कामर्स, एएसवीएम इंस्टीट्यूट ऑफ प्रोफेसनाल स्टडीज, क¨लग कॉलेज ऑफ कामर्स, पिपिली के प्राची महाविद्यालय, ढेंकानाल के आंचलिक डिग्री कॉलेज, इवनिंग डिग्री कॉलेज, महिमा डिग्री कॉलेज, जगतपुर के रेशमा साइंस डिग्री कॉलेज, आठगड़ के धबलेश्वर डिग्री कॉलेज, खोर्धा के हलिदिया डिग्री कॉलेज, भुवनेश्वर महुरा स्थित ओडिशा साइंस अकादमी, नयागड़ मॉडल डिग्री कॉलेज आदि शामिल हैं। इन कॉलेजों में से ज्यादातर में वाणिज्य संभाग में दाखिला ¨चता का विषय बना हुआ है। राजधानी भुवनेश्वर तथा आसपास के कई कॉलेजों में दाखिला बहुत ही कम हुआ है। कई कॉलेजों में तो विज्ञान व वाणिज्य संभाग में किसी भी छात्र-छात्रा ने दाखिला नहीं लिया है। इस पर उच्च शिक्षा विभाग ने ओडिशा शिक्षा कानून 1969 की धारा 11(2) के अनुसार उपरोक्त कॉलेजों को नोटिस जारी किया है।

Posted By: Jagran