अनुगुल, जागरण संवाददाता। देश के मुख्य न्यायधीश डी वाई चंद्रचूड़ की अध्यक्षता वाले उच्चतम न्यायालय के कॉलेजियम ने बुधवार को उड़ीसा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश जसवंत सिंह को त्रिपुरा उच्च न्यायालय का मुख्य न्यायाधीश बनाने की सिफारिश की। एक बैठक में कॉलेजियम ने 28 सितंबर 2022 के अपने पहले के फैसले पर पुनर्विचार किया।

कॉलेजियम में जस्टिस एसके कौल और केएम जोसेफ भी शामिल थे। बैठक में अपनाए गए एक प्रस्ताव में कहा गया कि "सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 25 जनवरी 2023 को हुई अपनी बैठक में पुनर्विचार पर और 28 सितंबर 2022 की अपनी पूर्व की सिफारिश के अधिक्रमण में, उड़ीसा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश श्री जसवंत सिंह को त्रिपुरा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में पदोन्नति की सिफारिश की है।"

28 सितंबर, 2022 के संकल्प के अनुसार पहले की गई सिफारिश, न्यायमूर्ति जसवंत सिंह को उड़ीसा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में नियुक्त करने की थी। त्रिपुरा उच्च न्यायालय में वर्तमान में केवल एक न्यायाधीश है, जो कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश के रूप में कार्य कर रहे हैं।

28 सितंबर, 2022 को कॉलेजियम ने उड़ीसा उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश एस मुरलीधर को मद्रास उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश के रूप में स्थानांतरित करने की सिफारिश की थी। केंद्र ने एक ही प्रस्ताव में दूसरे मुख्य न्यायाधीश के तबादले की सिफारिश को मंजूरी दे दी, वहीं न्यायमूर्ति मुरलीधर के तबादले का प्रस्ताव ठंडे बस्ते में डाल दिया है ।

अनुगुल जिलाधीश के कोयला ट्रकों के निर्बाध आवाजाही के आदेश पर हाईकोर्ट ने लगाई रोक, निर्णय पर जताई हैरानी

सुंदरगढ़: महिला एक शादियां दो, दोनों ही पति हो गए गायब, अब शौचालय से मिला नरकंकाल खोलेगा राज

Edited By: Roma Ragini

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट