Move to Jagran APP

ओडिशा के वंडर किड की है गजब की याददाश्‍त, झट से याद कर लेता है कठिन से कठिन चीजें, बना चुका है रिकॉर्ड

साईंनंंदन ने महज 2.36 मिनट में फलों पौधों जानवरों और पक्षियों के 100 वैज्ञानिक नामों को याद कर सबको चौंका दिया है। उसका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स जैसे विभिन्न रिकॉर्ड बुक में दर्ज कर लिया गया है।

By Jagran NewsEdited By: Arijita SenPublished: Fri, 26 May 2023 01:09 PM (IST)Updated: Fri, 26 May 2023 01:53 PM (IST)
गजब स्‍मरण शक्ति वाले ओडिशा के वंडर चाइल्‍ड साईंनंदन की तस्‍वीर।

संतोष कुमार पांडेय, अनुगुल। पुरी के एक बच्चे ने फलों, पौधों, जानवरों और पक्षियों के 100 वैज्ञानिक नामों को महज केवल 2.36 मिनट में याद कर सबको चौंका दिया है। बच्‍चे की इसी प्रतिभा के चलते उसका नाम इंडिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स, एशिया बुक ऑफ रिकॉर्ड्स और इंटरनेशनल बुक ऑफ रिकॉर्ड्स जैसे विभिन्न रिकॉर्ड बुक में दर्ज कर लिया गया है।

झट से याद कर लेता है कई सारी चीजें

ओडिशा के इस वंडर चाइल्‍ड ने अपनी गजब की स्‍मरण शक्ति से राज्य को गौरवान्वित किया है। इस बच्‍चे का नाम साईंनंदन है, जो पुरी के तिहाड़ीसाही के रहने वाले हैं। उनके पिता का नाम बैरागी नायक है। साईंनंदन के माता-पिता के अनुसार, बच्चे का विज्ञान के प्रति रुझान है और वह बहुत कम समय में कई चीजें याद कर सकता है।

बचपन से ही चीजों के साइंटिफिक नामों में है गहरी रूचि

साईंनंदन की मां स्वयंग संपूर्ण नायक ने बताया कि जब उनका बेटा केवल चार साल का था, तभी से उसने चीजों के वैज्ञानिक नामकरण में विशेष रुचि दिखानी शुरू कर दी थी। उसने बहुत कम समय में बहुत से पौधों, फलों, फूलों, जानवरों और पक्षियों के बड़े-बड़े वैज्ञानिक नामों को सहजता से  याद करके हमें चौंका दिया। उसकी स्मरण शक्ति वास्तव में बहुत तेज है।

बच्‍चे के पास है अद्भुत क्षमता

सैनंदन के पिता बैरागी ने बताया कि बच्चे की उपलब्धि पर परिवार के सभी सदस्यों को गर्व है। बैरागी ने कहा कि उसके पास वास्तव में एक अविश्वसनीय स्मरण शक्ति है। वह अपनी तेज याददाश्त से बहुत कम उम्र से ही बहुत लोकप्रिय हो गया है। उसके पास एक बड़ी क्षमता है। हम उनके उज्ज्वल भविष्य के लिए ईश्वर से प्रार्थना करेंगे।

दिमाग को स्‍ट्रॉन्‍ग बनाने के लिए इन बातों का रखें ध्‍यान

आमतौर पर लोग चीजों को बड़ी आसानी से भूल जाते हैं। कमजोर याददाश्‍त होने की शिकायत से आजकल कई लोग जूझ रहे हैं। बच्‍चों में खासकर यह समस्‍या अधिक देखी जाती है। ऐसे में नियमित प्राणायाम या मेडिटेशन, भरपूर नींद, खाने-पीने का विशेष ध्‍यान रखकर इस समस्‍या से छुटकारा पाया जा सकता है।  


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.